ट्रैफिक लेडी पुलिस की कामुकता

फिर उन सभी ने मुझे कई बार चोदा और बहुत तड़पाया और अब सुबह होने को थी.. तो कल्पना बोली कि चल में तुझे बाहर छोड़ती हूँ। तो वो मुझे अपनी गाड़ी में बैठाकर ले गई.. सुबह के 6 बजे थे.. लेकिन थोड़ा बहुत अंधेरा था। तो वो बोली कि तूने मेरी अच्छे से नहीं चाटी चल अब चाट.. वो कुत्ते की पोज़िशन में बैठ गई और बोली कि चल मेरी चूत और गांड दोनों को बारी बारी से चाट। तो में चाटने लगा और वो सिसकियाँ लेने लगी आओऊँ उफ्फ्फ चाट कुत्ते गांडू चूत चाट आअम्म उफ्फ्फ चाट साले। फिर वो बोली कि चल अब जल्दी से लंड डाल और चोद मुझे। मैंने उसकी गांड पर लंड रखकर उसकी गांड मारी और 30 मिनट तक उसकी गांड और चूत मारी.. लेकिन अब वो थक चुकी थी और में भी। तो मैंने कहा कि अब मुझे और रुपये दो। तो उसने मुझे 6500 रुपय दिए पूरी रात के में और वो पूरी नंगी थी। तभी एक ट्रैफिक पुलिस की गाड़ी आई और उसने हमे पकड़ लिया.. तो उन्होंने कल्पना से पैसे लेकर उसे छोड़ दिया और वो चली गई और मुझे पकड़ लिया.. वो एक लेडीस इन्स्पेक्टर थी और फिर उसने हवलदार को जाने को कहा में बहुत डर गया। फिर वो बोली कि मादरचोद लगता है कि तेरे लंड में बहुत दम है। तो मैंने कहा कि नहीं.. में तो बस रोटी कमाता हूँ। मेरा लंड अभी खड़ा था और उसकी नज़र पड़ी और वो बोली कि चल अब आज मुझे भी चोद दे। तो में बहुत डर गया.. लेकिन वो हकीकत में बोल रही थी.. लेकिन वो एक काली और बदसूरत मोटी औरत थी।

फिर वो मुझे अपने हेड क्वॉर्टर ले गये और वो मुझे टॉयलेट में ले गई और अपनी मोटी काली गांड खोलकर बोली कि चल चाट साले दिखा अपना कमाल। तो में शुरू हो गया और फिर 20 मिनट तक उसकी चूत और गांड चाटने के बाद वो बहुत गरम थी। मैंने अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया तो वो चिल्लाई और उसकी गांड फट गयी और मैंने उसके मुहं में रुमाल ठूँसा और 40 मिनट तक उसकी चूत और गांड मारी और उसे बंद करके वहां से अपने घर भाग गया ।।

यह कहानी भी पड़े  साली एक लड़की ने पूरी फॅमिली चुदवाइ 2

हैल्लो फ्रेंडस.. मेरा नाम राहुल है और मेरी उम्र 23 साल है। में दिल्ली की एक प्राईवेट नौकरी के साथ साथ मसाज भी करता हूँ.. मैंने जब बहुत सी सेक्सी कहानियाँ पढ़ी तो सोचा कि में भी अपनी एक सच्ची स्टोरी आप सभी को बताऊँ। यह कहानी एक ट्रैफिक लेडिस पुलिस की है.. जो की वेस्ट दिल्ली में नौकरी करती थी। एक दिन जब में अपने ग्राहक का इंतजार कर रह था.. तो मैंने देखा कि पास ही के एक क्लब में पार्टी चल रही है.. वो एक लेडीस किटी पार्टी थी। तभी में भी गेट पर खड़ा हो गया और पार्टी खत्म होने का इंतजार करने लगा। तो करीब रात के 9:30 बजे एक कार बाहर आयी और मुझे उसमे तीन आंटियां दिखाई पड़ी। वो सभी गाड़ी खड़ी करके दारू पी रही थी.. तो में समझ गया कि आज तो बड़िया पैसे मिल सकते है।

फिर में उनकी गाड़ी के पास गया तो एक आंटी बाहर आई और बोली कि तुम कपड़ो से तो अच्छे घर के लड़के लग रहे हो? तो में उनके शरीर को देखकर समझ गया कि वो मसाज करवाती होंगी और मैंने उसे बताया कि में अभी नया नया हूँ। तो वो बोली कि ठीक है.. चल अब बता कितना लेगा? फिर मैंने कहा कि आप मज़ा करो और जितना आप दोगे में ले लूँगा और फिर उसने मुझे 4000 रुपय दिए और कहा कि अगर काम अच्छा करोगे तो और भी मिलेगा। तो उन तीनो आंटियों ने मुझे साथ में लिया और अपनी कोठी पर ले गई वो तीनो पूरी नशे में थी.. लेकिन उनकी कोठी पर मुझे कोई भी नहीं दिखा शायद वो तीनो अकेली थी और मजे मस्ती कर रही थी। फिर उन्होंने मुझे अंदर ले जाकर सोफे पर बैठाया और थोड़ी देर बाद म्यूज़िक शुरू कर दिया और उन्ही में से एक ने मेरे मुहं पर एक कपड़ा बांध दिया और मुझसे डांस करने के लिए कहा.. उन्ही में से एक आंटी पूरी नंगी थी और मेरे वो साथ डांस कर रही थी। फिर उस नंगी आंटी जिसका नाम शालिनी था उसने मेरी अंडरवियर उतार दिया और वो बहुत हैरान थी क्योंकि मेरा लंड बहुत बड़ा है करीब 7 इंच लंबा और मोटा.. लेकिन वो मेरी गांड को दबा रही थी। उनमे से एक का नाम कल्पना और दूसरी का नाम शोभा था। उन तीनो की उम्र करीब 30-35 साल के आस पास थी और तीनो का फिगर भी बहुत अच्छा था मुझे यह सब उनको पहली बार देखकर पता चला था।

यह कहानी भी पड़े  देवर ने मेरी चूत का घंटा बजाया

फिर कल्पना और शोभा ने भी अपने अपने कपड़े उतार दिए। वो तीनो सुंदर तो थी.. लेकिन बहुत मोटी भी थी। फिर शालिनी ने मुझे सोफा पर बैठाया और मेरे मुहं के सामने खड़ी हो गई और वो अब मुझसे अपनी चूत चटवा रही थी.. तो वो उल्टी हो गये और मुझे गांड चटाने लगी वो सभी पागल सी हो गयी थी और उन्होंने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरे दोनों हाथ बाँध दिए।

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!