शिल्पा आंटी की मस्त चुदाई

हाय डीके फ्रेंड्स, मैं डीके का बहुत बड़ा फॅन हूँ और मेरा नाम समीर है और मेरी उमर 29 साल है और मैं पुणे मे एक एमएंसी कंपनी मे जॉब करता हूँ, मैं आपके साथ अपनी लाइफ का एक एक्सपीरियेन्स शेर करना चाहता हूँ जो मेरी पड़ोसन आंटी का है और ये कहानी मैं उनकी इजाज़त से यहा शेर कर रहा हूँ, वो एक डाइवोर्स औरत है और उनका फिगर 38,36,40 है और उनका नाम शिल्पा है, मैं मुंबई से हूँ और शिल्पा आंटी मेरे घर के सामने वाले घर मे ही रहती है, वो नेचर से एक अछी औरत है और पढ़ी लिखी भी और वो मुझे अपने बेटे की तरहा प्यार करती है पर उनके पास उनका कोई अपना बच्चा नही है, मैं उन्हे स्कूल टाइम से जानता हूँ वो अक्सर मुझे चॉकॅलेट दिया करती थी जब मैं छोटा था, आंटी मेरी मॉम के भी बहुत करीब थी और वो दोनो आपस खुल कर बाते किया करती थी और जब मैने +1 मे दाखिला लिया तो हमारे पास कंप्यूटर नही था.

पर मैं आंटी के घर जाता और उनका कंप्यूटर यूज़ करता और उन्होने ही मुझे इंटरनेट यूज़ करना सिखाया, मैने उनसे बहुत कुछ सीखा और मैने महानत भी बहुत की और इसी कारण मैं +2 मे 90% से पास हुआ और आंटी ने मुझे खूब चॉकलेट्स दी और मेरे गालों पे बहुत सी किस्सस, फिर मैं रोज़ उनको ग़लत नज़र से देखने लगा और सही मोके की तलाश करने लगा जैसे की आपको बताया की मैं उसका कंप्यूटर यूज़ करता हूँ तो आंटी जब घर पे नही होती तो मैं उनकी पैंटी सुंगते हुए मूठ मारा करता था या कंप्यूटर पे ब्लू फिल्म देखता रहता था और फिर जब मैने ग्रॅजुयेशन के लिए दाखिला लिया तो मैं और ज़्यादा टाइम उनके कंप्यूटर पर बिताने लगा, तो आंटी मुझसे और ज़्यादा फ्रेंड्ली हो गयी और अब रोज़ कुछ ना कुछ काम बताती थी और हम बहुत सारी बाते करते थे, आंटी मोस्ट ऑफ द टाइम नाइटी मे होती है घर पे तो जब भी वो मेरे से बात करती थी तो मैं उनके बूब्स पे नज़र रहता था.

यह कहानी भी पड़े  बस वाली भाभी की हॉट चुदाई कहानी

और एक दो बार उन्होने भी मेरी नज़र पकड़ ली और पूछा क्या हुआ समीर, मैं नॉर्मल लेके बोला कुछ नही आंटी बस यूही और फिर उन्होने अलग स्माइल दी तो मुझे समझ नही आया और कुछ दिन यू ही चलता रहा, फिर मेरे फर्स्ट . के एग्ज़ॅम आ गये और मैं एग्ज़ॅम्स मे बिज़ी हो गया और 2 एग्ज़ॅम्स हुए ही थे की मेरे गाओं से न्यूज़ मिली की नानी बहुत सीरीयस है तो मॉम-डॅड को जाना पड़ा, मॉम ने आंटी को बताया की समीर के एग्ज़ॅम शुरू है उसपे ध्यान रखना, मुझे लगा लॉटरी लग गयी पर मैं उनके साथ टाइम स्पेंड नही कर पाया ड्यू टू एग्ज़ॅम और मेरे एग्ज़ॅम . होने के बाद मैने आंटी के सात टाइम बिताना शुरू कर दिया और यू ही बाते चलती रही और एक बार बात करते करते उन्होने पूछा तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड बनी की नही कॉलेज मे, मैं शर्मा गया और ना मे सर हिला दिया तो वो हासणे लगी और बोली ट्राइ भी नही किए क्या तो मैने कहा हमारे कॉलेज की लड़कियाँ उतनी . नही है.

आंटी बोली “अछा जी तो आपको कैसी लड़की चाहिए”, मैने कहा “जब टाइम आएगा बता दूँगा”, उसपे वो फोर्स करने लगी “बताओ भी अब मुझसे क्या छुपाना मैं ढूंड देती हूँ”, बहुत इन्सिस्ट करने पर मैने बोला आप जैसी . और उसपे वो बहुत ज़ोर-ज़ोर से हासणे लगी और बोली “मुझे पता था तेरा ऐसा ही कुछ जवाब होगा”, आई . शॉक्ड और आंटी को देखने लगा, आंटी “तेरी नज़र कहा होती है रोज़ तो और बोली “कंप्यूटर पे बैठ के क्या करता है वो भी मुझे पता है” मैं डर गया और बोला “सॉरी आंटी मैं आगे से नही करूँगा प्लीज़ मॉम को मत .”, वो बोली एक कंडीशन पे तो मैं डर गया था तो हान मे सर हिलाया, वो अपनी कंडीशन बोलने लगी “आज से . मैं जो बोलूँगी और जैसे करने को बोलूँगी . ही रहेगा तेरी मॉम आने तक”, मैने हान मे सर हिला दिया पर मैं सोच मे पड़ गया की क्या चाहती है आंटी और उसी वक़्त आंटी मेरे साइड मे आके बैठी और कहा “मैं तुम्हे अपना सेक्स . बनौँगी”.

यह कहानी भी पड़े  बीवी ने अपने लिए लंड का इंतज़ाम किया

मुझे सेक्स सुनते ही लॉटरी लग गयी . और वो बोली “चलो शॉपिंग करने चलते है और खाना बाहर ही लंच करके आएँगे”, आंटी ने कॅब बुक की और हम शॉपिंग करने चले गये फेओनिक्ष . वाहा आंटी ने बहुत कुछ किया अंडरगार्मेंट्स चॉक्लेट्स . मेनी मोर, फिर हम घर पहुचे लंच करके और यहा से मेन पार्ट शुरू होता है वो बोली चलो अब कडपे उतारो और मेरे पैरो को मालिश करो और लेग्स चाट के सॉफ करो और मैं डर गया की सेक्स के बारे मे कुछ अलग ही सुना हूँ, मैने जैसे वो बोली वैसे ही किया और उनकी लेग्स की उंगलियों को सक किया और वो उठी और बोली “चलो मेरे भी कपड़े उतार दो”, और मेरे हाथ काँपने लगे और मैने जैसे तैसे कपड़े उतारे और वो अब पैंटी और ब्रा मे और उसको देखके मेरा लॅंड खड़ा हो गया और मज़ा भी आ रहा था, वो मेरे बाल पकड़ के बेड रूम मे ले गयी और वाहा जाके मेरे हाथ पीछे करने को बोला और शॉपिंग बॅग से वाइयर निकाल के बान्द दिए और मुझे किस करने लगी.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

error: Content is protected !!