शादी में आई कजिन को चोद दिया

उसने अपनी गांड उठाते हुए मेरे सर को अपने हाथ से दबाते हुए अपनी चुत से दबा दिया था. वो बड़ी बेताबी से चुत चटवा रही थी.
वो कुछ ही देर बाद झड़ गई.

कोई तीन चार मिनट तक मैं भी उसकी चुत को चाटता रहा, जिससे वो फिर से गर्म और चुदासी हो गई.

वो बोली- अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है, तुम जल्दी से अपना लंड मेरी चुत में डाल दो.

मैंने अपने लंड को उसकी चुत के छेद में सैट किया और धक्का लगा दिया. अभी मेरा आधा ही लंड उसकी चुत में गया था कि उसकी एक तेज आवाज निकलने को हुई. मैंने अपने होंठों को उसके होंठों पर रखा और धीरे धीरे किस करने लगा.

वो कुछ शांत हुई, तो मैंने कुछ पल बाद एक और धक्का लगा दिया. इस बार मेरा पूरा लंड उसकी चुत में अन्दर तक घुसता चला गया था. वो एक बार के लिए बिना पानी की मछली की तरह तड़फी. फिर खुद ब खुद शांत हो गई.

उसके होंठ अब भी भिंचे हुए थे और उसने बिस्तर की चादर को अपनी मुट्ठियों से खींचा हुआ था. मैंने उसे सहलाना शुरू कर दिया, जिससे वो शांत हो गई और अब उसे भी मजा आने लगा.

कुछ ही देर में वो भी अपनी गांड उठाने लगी. मैं समझ गया कि इसको लंड की जरूरत होने लगी है. मैंने उसकी चूत में लंड को आगे पीछे करना चालू कर दिया. वो भी गांड उठा-उठा कर चुदने का मजा ले रही थी.

उसकी मुँह से हल्के स्वर में मादक और वासना से भरी हुई आवाजें निकलने लगी थीं- अअहह मह्ह्ह्ह हाह … चोदो … चोद दो मुझे … लक्की जोर से चोदो.

यह कहानी भी पड़े  छोटे भाई की पहली मस्ती

मैंने भी उसकी बहुत देर तक धकापेल चुत चुदाई की और उसी अन्दर झड़ गया. अब तक वो भी झड़ चुकी थी.

झड़ने के बाद हम दोनों यूं ही एक दूसरे के ऊपर पड़े रहे. कुछ देर बाद हम दोनों अलग हुए और उसने खुद को साफ़ करने के लिए बाथरूम में जाने के लिए कहा. मैं उसके साथ उठ कर बाथरूम में गया. अन्दर देखा कि उसकी चुत फट गई थी और खून निकला हुआ था.

उसने अपनी चूत की सील मेरे लंड से खुलवा ली थी. उसके चेहरे पर दर्द था, लेकिन वो मुस्कुरा रही थी.

ये मेरी उसके साथ पहली चुदाई की कहानी थी. आपको कैसी लगी, मुझे ईमेल करके जरूर बताना.
मेरी ईमेल आईडी है

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!