हॉट सास को चोदा ससुरा में जमाई ने

मैं: सासु माँ जब आप मेरे घर पर आती थी तब से मैं आप को देख कर मुठ मारता था. कोई नहीं कह सकता की आप मेरी वाइफ की माँ हो. सब कहते ही की वो आप की छोटी बहन हे. और आप को देखकर ऐसा लगता हे की अभी जवानी ने आप का साथ नहीं छोड़ा. टाइम के साथ साथ आप और भी जवान होती जा रही हे और दीन प्रतिदिन में आप के अन्दर का सेक्स भी बढ़ता जा रहा हे. मेरे दोस्त लोग भी आप के सेक्सी बदन को देख कर मुठ मारते हे.

सास” हां बेटा तेरे ससुर से तो पहले से ही कुछ नहीं होता था और ऊपर से उनका एक्सीडेंट हो गया जिस से वो कुछ काम के ही नहीं बचे. बहुत सालो से मैं अपनी चूत को ऊँगली से मुली से और सेक्स के खिलोनो से हिला के शांत करती हूँ. लेकिन लंड तो लंड होता हे, उसके बिना भला चूत की प्यास शांत हो सकती हे क्या. पर अब मुझे कोई टेंशन नहीं हे क्यूंकि मेरा दामाद बेटे का लंड अब मुझे खूब चोदेगा और मेरी चूत की आग को शांत कर देगा.

मैं: हाँ अब आप को किसी मुली, बेगन, खीरे से अपनी चूत को खुजाने की जरूरत नहीं हे. मेरा लंड ही काफी हे आप की चूत के लिए. अगर आप पहले ही मुझे कह द्देती तो मैं पहले से ही आप को चोदने लगता.

फिर मेरी सासू माँ ने झट से मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया और उसे हिलाते हुए बोली: बेटा तेरा लंड तो सच में बहोत तगड़ा हे बहोत ही अच्छी किस्मत वाली हे मेरी बेटी जो उसे ऐसा लंड मिला हे. और मेरी भी किस्मत सच में बड़ी अच्छी हे की तुम आज इस लंड को मुझे दे रहे हो.

फिर मैंने सासू माँ को पकड़ा और उन्के होंठो को चूसने लग गया. और साथ ही मैं अपनी जीभ को उन्के मुहं में डाल दी और वो उसे चूसने लगी. फिर मैंने अच्छे से उन्के होंठो को चुसे और और फिर अपनी जीभ से उन्के दोनों को चाटा और अपनी जीभ से उनकी जीभ को बहार निकाला और उनकी गुलाबी जीभ को अपने मुहं में लेकर मस्ती से चूसा.

यह कहानी भी पड़े  घूमने के लिए आई टूरिस्ट की चुदाई

सासू माँ: अरे वाह मजा आ गया किस करने में ही, ये सब तुमने कहा से सिखा दामाद जी?

मैं: अरे सासु माँ इंग्लिश की सेक्स मूवी में ऐसे ही किस करते हे हीरो हिरोइन.

और ये कहते ही मैंने उन्के दोनों बूब्स पकड लिए और जोर जोर से उन्हें चूसने लग गया. सासू माँ के मुहं से जोर जोर की सिस्कारियां निकल पड़ी और वो मोअन करने लगी. सासु माँ पूरी मस्त हो गई और ना जाने मस्ती में वो क्या क्या बडबड भी करने लगी थी. अह्ह्ह्ह अह्ह्ह वाह बेटा आज तो मजा ही आ गया. आज तक ऐसे मुझे किसी ने प्यार दिया और तेरे ससुर ने तो ऐसा किया ही नहीं कभी. मुझे प्यार करो दामाद जी और मुझे जोर जोर से चुसो.

करीब 20 मिनिट मैंने सासु माँ के बूब्स और होंठो को अच्छे से चूसा और फिर सासु माँ बोली: बेटा अब बस करो कितना तडपाओगे अपनी सासू माँ को अब अपना लंड मेरी चूत में डालो और फाड़ दो डाली को अपने लंड से.

ये सुनते ही मैंने अपना लंड सासू माँ की चूत पर रखा और मैंने सासु माँ को अपने साइन से लगा लिया. सासू माँ ने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ा हुआ था. और जैसे ही मैंने अपना लंड करीब 2 इंच उनकी चूत में डाला तो उन्के मुहं से सिस्कारियां निकल पड़ी और वो बोली: आह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह उईइ माँ इतना बड़ा लंड हे ये तो आज फाड़ ही देगा मेरी चूत को!

मैं: सासू माँ आप की चूत तो सच में बहुत ही टाईट हे आप आज से पहले चुदी नहीं क्या?

मैने ऐसे ही सासू माँ को बातों में लगाकर रखा और फिर मैंने एक जोरदार धक्का मारा और मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया. उन्के मुह से जोर जोर से आह्ह्ह अह्ह्ह निकली और मेरे मोढ़े पर उन्होंने अपने दांत गड़ा दिए और फिर वो बोली, मुझे काफी सालो से कोई चोदने के लिए मिला ही नहीं इसलिए मेरी चूत की फांक फिर से टाईट हो गई थी. आज तुम्हारा लंड ले के बहुत मजा आ रहा हे बेटा.

यह कहानी भी पड़े  मौसी की बेटी की फाड़ डाली

कुछ ही देर बाद जब सासु माँ पूरी गरम हो गई और अब वो मस्ती से मेरा पूरा लंड अपनी चूत के अन्दर लेने लग गई. सासु माँ मेरे जिस्म को जोर जोर से अपने दांतों से काट रही थी और पूरी मस्ती से इम्रे लैंड को अपनी चूत की गहराइयों में ले रही थी. आज सच में मुझे अपने लंड पर नाज हो रहा था. और इसी से मेरी सासू माँ की चूत की प्यास शांत हो रही थी.

कुछ देर वही चोदने के बाद फिर मैं उन्हें कमरे में ले गया. और फिर वहां पर अच्छे से चोदा. चोद चोद के मैंने सासू माँ को उसकी जवानी याद करवा दी. उसने भी अपने चूतड़ उठा उठा के ऐसे लंड लिया की मुझे भी मजा आ गया.

उसके बाद सासु माँ ने मेरे लिए मस्त लंच बनाया और अपन हाथ से खिलाया भी. खाने के बाद उसने लस्सी बनाई हम दोनों के लिए. मैंने ग्लास में लंड डाल के लस्सी वाला किया और उसे लंड से लस्सी चटाई. मैंने भी ठीक वैसे ही लस्सी को पी थी. उसकी चूत के ऊपर डाल डाल के एक एक घोंट को पिया था मैंने.

फिर सास को मैंने सोफे के पास खड़े हो के खड़े हुए चोदा और वही पर उसी पोज में उसकी गांड भी मारी. सासु माँ ने कन्फेस किया की वो सच में मेरा लंड गांड में भी लेना ही चाहती थी. शाम को ससुर के आने तक हमने 7 बार चोद लिया था और थक के चूर हो चुके थे. फिर मैं शाम को ससुर जी से मिल के अपने घर आ गया.

अब मेरे पास दो चूत हे. एक मेरी बीवी की और एक मेरी इस हॉट सास की.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!