सेक्सी किरायेदार भाभी की चालाकी

भाभी ने हाथ बढ़ा कर मेरा लंड पकड़ लिया और बोलने लगीं- बस अब अन्दर डाल दो और मत तड़फाओ.
लेकिन दोस्तो, सेक्स में औरत या लड़की को जितना तड़फाओ, उनको बाद में उतना मज़ा आता है.

मैंने भाभी का अभी तक लोवर नहीं उतारा था. इस बार मैंने आगे बढ़ते हुए भाभी के लोअर को उनकी पेंटी के साथ ही उतार दिया और उनको बिल्कुल नंगी कर दिया.

मैं भाभी की चिकनी टांगों पर चूमने लगा और धीरे धीरे उनकी जांघों पर पहुंच गया. मुझे उनकी जांघें बहुत मस्त लग रही थीं, बिल्कुल दूध की तरह गोरी और मुलायम थीं. मैंने वहां किस करना शुरू कर दिया.

भाभी अब टांगें पसार कर और भी ज्यादा तड़फने लगी थीं. जैसे ही मैंने उनकी चुत पर अपना मुँह रखा, वो एकदम से उछल पड़ीं और उन्होंने मेरा मुँह अपनी जांघों में दबा दिया. मुझे उस टाइम बड़ा मज़ा आ रहा था.

फिर भाभी की चुत चाटते हुए मैंने उनकी चूत की टंग फकिंग शुरू कर दी. भाभी गांड उठा कर चूत का मुख मैथुन करवाए जा रही थीं. जल्द ही भाभी की चूत का पानी निकल गया और वे झड़ कर निढाल हो कर लेट गईं.
मैं उनके पास ही लेट गया.

तभी भाभी ने बोला कि मुझे तो आपने पूरा नंगा कर दिया.. अपना एक भी कपड़ा नहीं उतारा?
तो मैंने भाभी की तरफ इशारा किया कि ये तो आपका काम है.

तो वो बड़े प्यार से किस करते हुए मेरे कपड़े उतारने लगीं. जब भाभी ने मेरे कपड़े उतार दिए, तो मैं भाभी के साथ रज़ाई में आ गया और उनको बांहों में लेकर किस करने लगा.

यह कहानी भी पड़े  दीप्ती भाभी ने डिनर पर बुला के लंड लिया

भाभी फिर से गर्म होने लगीं. मैं उनकी पूरी बॉडी पर किस करते हुए उनकी चुत पर फिर से किस करने लगा, तो भाभी ने मेरा लंड पकड़ लिया और बोला कि मुझे भी थोड़ा मज़ा ले लेने दो.

हम दोनों 69 की पोजीशन में हो गए. मैं बहुत गर्म था इसलिए मैं जल्दी झड़ गया. भाभी ने भी मेरा सारा माल पी लिया और बोलीं कि आज पहली बार मैंने किसी का माल पिया है और पहली बार इतना मज़ा आया है.
तो मैंने कहा- अभी पूरा मज़ा कहा आया है, पिक्चर अभी बाकी है मेरी जान.

इस पर भाभी हंस पड़ीं और बोलने लगीं- तुम फोरप्ले में एक्सपर्ट हो.. जो भी लड़की तेरे साथ सेक्स करेगी, वो पूरे मज़े लेगी.
बस इसी तरह बातें करते हुए मैं और भाभी फिर से गर्म हो गए.

इस बार मैंने भाभी को सीधा किया और अपना लंड उनकी चुत पर रख कर झटका मारा दिया. मेरा लंड उनकी चुत को चीरते हुए सीधा घुस गया और भाभी की हल्के से चीख निकल गयी.

मैं भाभी के मम्मों को दबाते हुए झटके देने लगा. भाभी को अब पहले से भी ज्यादा मज़ा आ रहा था, इसलिए वो खुल कर अब मेरा साथ दे रही थीं.

थोड़ी देर यूं ही चोदने के बाद मैंने भाभी को अपने ऊपर आने को बोला, तो वो बिना लंड निकाले एकदम से मेरे ऊपर आ गईं.

ये पोजीशन ऐसी होती है, जिसमें आप लड़की या औरत को अपने ऊपर ले झटके मारो और साथ में उनके मम्मों को भी पीयो.. तो दोनों को ज्यादा मज़ा आता है.

यह कहानी भी पड़े  ननदोई जी ने कर दी मेरी चूत चुदाई और मैं गर्भवती हो गई

अब भाभी मेरे ऊपर आ कर कूदने लगीं और मुझसे बोलने लगीं- तुम अब मेरे ऊपर आ जाओ और तेज तेज झटके मारो.
मैं भी एकदम से भाभी के ऊपर आ गया और झटके मारने लगा.

बीस मिनट की धकापेल चुदाई के बाद भाभी और मैं साथ में झड़ गए. भाभी ने मुझे अपने सीने में समेट लिया और हम दोनों नंगे ही लेट गए.

मेरा मन भाभी की गांड मारने का था तो मैंने भाभी को बोला, तो वे बोलने लगीं कि मैंने आज तक गांड नहीं मरवाई है. लेकिन तुमने मुझे आज जितना मज़ा दिया है तो तुमसे जरूर मरवाऊंगी. पर प्लीज़ आज नहीं … क्यूंकि आज बहुत थक गयी हूँ.

फिर भाभी मुझे हग करते हुए मेरे साथ नंगी ही मुझे बांनों में ले कर सो गईं.

उसके बाद तो उन पूरे पंद्रह दिनों तक लगातार भाभी और मैं रात को सेक्स करते रहे. दूसरी ही रात को मैंने उनकी गांड मारी और मजा किया.

फिर भैया आ गए तो मुझे अपने कमरे में ही सोना पड़ा. लेकिन जब भी मौका मिलता है, भाभी मेरे साथ सेक्स जरूर कर लेती हैं.

आप अपनी राय मुझे मेरी ईमेल आईडी पर शेयर कर सकते हैं.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!