सेक्सी गर्ल स्टूडेंट को पटा कर चुत चुदाई

साली क्या लौड़ा चूस रही थी.. उसने गले तक लौड़ा ले लिया था. मैं समझ गया कि लौंडिया खेली खाई है. मैं लंड चुसाई के चलते झड़ने वाला था.
मैंने उससे पूछा कि इतना मस्त लंड चूसना किधर से सीखा है?

वो हंस दी लेकिन कुछ बोली नहीं, उसकी इस अदा से मुझे पक्का यकीन होने लगा था कि साली लंडखोर है और चुदी चुदाई चुत है.

मुझे अभी मजा आ रहा था तो मैंने सोचा माँ चुदाए अपुन को क्या करना इसकी चुत में अपने लंड का पानी निकाल कर मजा लो और आगे बढ़ो.. सील पैक भी कभी न कभी तो मिलेगी ही.
यह बात मैंने इसलिए सोची थी क्योंकि मैं एक टीचर था और मेरे टच में बहुत सी लौंडियाँ आती रहती थीं. साली कोई न कोई तो बिना चुदी चुत मेरे लंड के नसीब में होगी.

अब तक उसकी लंड चुसाई से मैं बुरी तरह से गनगना गया था और अब मेरे लंड का झड़ना तय हो चुका था.
मैंने उससे बोला- मैं झड़ने वाला हूँ..
पर वो मेरे लंड को लगातार चूसती रही. तभी मैं झड़ गया, तो उसने मेरे लंड का पूरा वीर्य निगल लिया.

मैं उसके मुँह से अपना लंड चुसा कर मस्त हो गया था. कुछ देर बाद मैं फिर से उसे किस करने लगा. उसके उरोज सहलाने लगा.

वो भी अब बहुत गर्म हो चुकी थी और बार बार कह रही थी- अब रहा नहीं जाता.. जल्दी से अन्दर डाल दो प्लीज़.. लंड डाल दो अन्दर.
मैं उसे तड़पाना चाहता था. साली ने मुझे बहुत दिन से चुदाई के लिए तड़पाया था.

इस वक्त कमरे का पूरा माहौल एकदम गर्म हो चुका था. मेरा लंड भी पूरी तरह से चुदाई के लिए तैयार था. मैं उसको यही समझ कर चोदने की तैयारी में था कि साली को लंड खाने की आदत है और इसको बहुत दिनों से किसी का लंड मिला नहीं होगा इसी लिए लंड लंड चिल्ला रही है.

यह कहानी भी पड़े  अंकल की बेटी की गर्म चूत

मैंने उसको पैर ऊपर करने को बोला, उसने झट से रंडियों के जैसे अपनी टांगें खोल कर ऊपर उठा दीं. मैंने उसकी लपलपाती चुत पर लंड लगा दिया. इस वक्त मैंने उसे इस तरह पकड़ रखा था कि लंड अन्दर जाते वो छूटने ना पाए. वो भी लंड लेने को तैयार थी. मैंने एक ही झटके में आधा लंड उसकी चुत में डाल दिया.

लंड क्या घुसेड़ा, वो तो बुक्का फाड़ कर चीखने लगी. मैं एक बार को तो डर गया कि क्या हुआ साला किसी गलत जगह तो लंड नहीं घुसेड़ दिया. पर तब भी मैं उसे किस करता हुआ चोदे जा रहा था. उधर वो इस कदर तड़फ रही थी कि मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि साली लंड चूसने में तो माहिर लग रही थी, लेकिन अभी तक सील पैक निकली.

वो तड़पने लगी और रोने लगी. मेरे लंड की चोट से उसकी चुत की सील जो टूट गई थी. उसकी चुत से खून बह रहा था. ये तो उसे चुदाई के बाद पता चला.

मैंने जब अपने लंड के नीचे सील पैक चुत का अहसास किया तो मैं मस्त हो गया और मैं उसे अब प्यार से किस कर रहा था. उसके उरोज सहला रहा था. जब वो थोड़ी सामान्य हुई तो फिर से धीरे धीरे मैंने चुदाई शुरू की.

कुछ देर बाद वो भी अपनी कमर उछाल उछाल कर मेरा साथ देने लगी थी. उसकी हल्के स्वर में कामुक सिस्कारियां निकल रही थीं- आहंहहहह.. उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई.. आह और करो.. मजा आ रहा है..

मैं करीब 20 मिनट तक चुदाई करता रहा. इस बीच वो दो बार झड़ चुकी थी. अब मैं भी आने वाला था. मैंने उससे पूछा कि माल किधर लोगी?
वो तुरंत बोली- अन्दर ही डाल दो.

करीब 15-16 झटकों के बाद मैं भी झड़ गया और निढाल होकर उसके ऊपर वैसे ही पड़ा रहा. मेरा लंड अब भी उसकी चुत में ही था. कुछ देर बाद लंड सिकुड़ कर बाहर आ गया. दस मिनट बाद उठ कर हम दोनों बाथरूम चले गए. वो तो चल ही नहीं पा रही थी. मैं उसको उठा कर बाथरूम में ले गया. हम दोनों ने साफ सफाई की.

यह कहानी भी पड़े  चाचा के वहाँ शादी में देसी लड़की की

इसके बाद चुहलबाजी शुरू हो गई तो मैं फिर से चूत चुदाई के लिए तैयार था.. पर उसने मना किया.

मैंने उससे एक बार फिर से लंड चूसने को बोला.. तो उसने मेरा लंड चूस कर मेरा माल निकाल दिया. इसके बाद हम दोनों चिपक कर लेट गए.

मैंने उससे पूछा कि अब तो बता दो इतना जबरदस्त लंड चूसना किधर से सीखा?
तो मेरी छाती पर मुक्का मारते हुए बोली- क्या ये जानना जरूरी है कि मैंने ये सब किधर से सीखा?
मैंने कहा- हां जरूरी है.
बोली- क्यों जरूरी है.. पहले ये बताओ?

मैंने कहा- मुझे ये मालूम है कि लड़कियां बिना कुछ कहे मर्द के मन की सब बात समझ लेती हैं, तो क्या मैं ये समझ लूँ कि तुम मेरे सवाल के पीछे छिपे भाव को समझ गई हो?
इस पर वो कुछ नहीं बोली और बस मुस्कुरा कर कहने लगी कि मुझे कुछ नहीं बताना है यदि तुम मेरे लिए कुछ भी सोचते हो तो सोचते रहो.
मैंने उसकी इस बात पर हंस दिया और कहा कि देखा मैंने कहा था न कि तुम मेरे दिल की बात समझ गई हो कि मैं क्यों ये जानना चाहता था कि तुम कुल्फी चूसना किधर से सीखीं.
वो हंसते हुए उठी और बोली- मानोगे नहीं.. मैं ये सब ब्लू फिल्म देख कर सीख गई हूँ.. बस अब जान लिया हो तो बात खत्म करो.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!