सासु को ससुराल में चोदा

और मेरे गाल पर एक हलकी सी चपत मारा और उठकर खड़ी हुई तो जांघो से वीर्य बहने लगा और बिस्तर में भी ढेर सारा गिर गया तो अपना पुराना पेटीकोट उठाया और पहले जांघो को साफ़ किया फिर बिस्तर वीर्य को पेटीकोट से पोछने लगी और फिर वापस गाउन को पहन कर छत में किनारे बने बाथरूम में पेसाब करने चली गई मैं भी चढ्ढी लोवर पहन लिया और टपरी में अपने बिस्तर पर आकर लेट गया कुछ देर में मंजू आई तो मैंनेहाथ पकड़ कर रोक लिया तो बोली ”रुकिए आती हूँ 5 मिनट ‘में” और कमरे गई 5 मिनट बाद आई तो उनके हाथ में गिलास था मुझे दिया और बोली ”पी लीजिये” तब मैंने बोला ”पहले आप” तो फिर बोली ”मेरा जूठन आपको नहीं पिलाऊगी” तब मैं धीरे से हसा और बोला ”जब आपकी बुर चाट लिया तब ये जूठन बचाने से क्या फायदा” तो हँसने लगी और बोली ” चलिए पीजिये

बहाने नहीं बनाइये” तब मैं दूध पीने लगा आधी गिलास बचा तो मंजू की पकड़ा दिया जब अंजू दूध पीने लगी और थोड़ा सा दुष बचा उनके हाथ से गिलास लेकर उनका जूठा दूध पी लिया तो मुझे बड़े प्यार से चुम लिया और खाली गिलास लेकर रूम में रख कर फिर से आ गई और मेरे पास बैठ गई ! हल्का हल्का पानी अभी भी गिर रहा था ! मंजू को याद दिलाया सीढ़ी के दरवाजे को खोलने की तो बोली ”पानी गिरने पर ओ बंद ही रहता है किसी को कोई काम होगा तो बजायेगा” तब मैंने कहा ”फिर कोई बात नहीं” इतना कह कर मंजू को अपने पास ही बैठा लिया और दोनों बिलकुल धीमी आवाज में बातें करने लगेकुछ देर में मंजू को अपनी चारपाई लिटा लिया और बाते करने लगे

!पानी की हलकी हलकी फुहार ने मौसम को ठंडा कर दिया पर मंजू और मेरे जिस्म में और गर्मी और भड़क गई 2 घंटे तक बात करते करते मेरे लण्ड पर बिगोरा का प्रभाव फिर से दिखा,लण्ड तन खड़ा हो गया तो फिर से मंजू की चूचियों से खेलने लगा और होठों को चूसने लगा तो मंजू ने लोवर के ऊपर से लण्ड को टटोलने लगी तब मैंने कान में धीरे से कहा ”चलिए अंदर चलते है” तो मंजू तुरंत ही चारपाई से उठी और कमरे में घुस गई मैं भी पीछे पीछे चला गया और जाते ही मंजू को गाउन उतारने को कहा तो ओ तुरंत ही गाउन उतार कर रख दिया ,मैंने भी अपने कपडे उतारे और लोवर से कंडोम निकाला और बेड पर रखकर मंजू की टांगो को फैलाया और चूतचाटने लगा मुस्किल से 3-4 मिनट तक चूत चाटा होगा मंजू मुझे पकड़ कर अपनी तरफ खीचने लगी तो मंजू को घोड़ी बनने का इसारा किया तो ओ दो तकिये को अपने पेट सीने के नीचे रखी और तुरंत घोड़ी बन गई तो मैंने फनफनाता हुआ लण्ड एक झटके में ही पेल दिया तो मंजू धीरे से बोली ”इस बार कंडोम लगा लीजिये” इतना कहकर कंडोम मेरे हाथ में पकड़ा दिया तो मैंने लण्ड निकाला और सुपाड़े को नंगा किया बिना ही कंडोम लगा लिया !

यह कहानी भी पड़े  विधवा चाची की कामुकता शांत की

इस बार मंजू ज्यादा देर तक चुदाई के लिए रुकेगी ये सोच कर लण्ड की चमड़ी पीछे किये बिना ही कंडोम लगा लिया और एक बार फिर से चूत को चाटने लगा तो मंजू अपने चूतड़ो को अगल -बगल हिलाने लगी और एक हाथ से मेरे सिर को हटाने लगी तो मैंने चूत चाटना बंदकरके अपना 7 इंची लंबा और खूब मोटा लण्ड मंजू की चूत में पेल कर आगे पीछे करने लगा मंजू बड़े मस्त अंदाज में चुदाने लगी जब मैं लण्ड को आगे पीछे करना बंद कर देता तो मंजू खुद ही अपने चूतड़ो को आगे पीछे करने लगती,मैं झुक झुक कर एक हाथ से मंजू की चूचियों को खिलाता तो मंजू में और अधिक चुदाई का जोश चढ़ जाता तो अपने चूतड़ों को और जल्दी जल्दी आगे पीछे करने लगती इस

तरह से करीब 7 मिनट तक लगातार लण्ड की बौछार देता रहा ! उधर पानी जोर जोर से गिरने लगा और मौसम में ठंडक बढ़ गई खुले हुए दरबाजे से पानी के छीटे आ रहे थे पानी की बौछार के साथ साथ कमरे का तापमान कम होता जा रहा था पर मंजू और मेरा तापमान बढ़ता जा रहा था, मंजू को तड़पाने के लिए जब लण्ड आगे पीछे करना बंद कर देता तो मंजू अपने चूतड़ों को खुद ही आगे पीछे करने लगती तो मैं फिर दो चार बार जल्दी जल्दी लण्ड की ठोकर मारता और बंद कर देता तो मंजू फिर से अपने चूतड़ों को जल्दी जल्दी आगे पीछे करने लगती इस तरह से मैंने कई बार लण्ड की ठोकर मारना बंद कर देता तो मंजू से नहीं रहा गया तो ओ मुझे बिस्तर में गिरा दिया और खुद ही मेरे ऊपर चढ़ कर चुदवाने लगी

यह कहानी भी पड़े  पापा ने मेरी बीवी को चोद दिया

मेरे सीने में अपने हाथों को रखा और खड़े लण्ड पर मलखम्भ करने लगी लगातार 5 मिनट तक मलखम्भ करने के बाद थक गई और लण्ड घुसाये हुए मेरे ऊपर लेटकर चूतड़ों को हिलाने लगी और मेरी जीभ को चूसने लगी तब मैंने मंजू को नीचे किया और चढ़ गया मंजू के ऊपर मंजू की दोनों जांघो को अपनी जांघो पर रख लिया और मंजू के ऊपर झुकते हुए मंजू की चूचियों को चूसता जाता और लण्ड के

Pages: 1 2 3 4 5

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!