पत्नी को पति का तोहफा

प्रीति ने अचानक अपने जांघों और चूत पर किसी का स्पर्श अनुभव किया, उसने महसूस किया कि कोई उसकी चूत को चाट रहा है. उसके
शरीर में फिर गर्मी आने लगी. उसने अपनी आँखें खोल देखा कि रश्मि उसकी टाँगे बीच झुकी उसकी चूत को चाट रही थी.

हालाँकि प्रीति ने इसके पहले कभी किसी औरत के साथ का अनुभव नही किया था, पर आज उसे आनंद आ रहा था. वो मान गयी कि रश्मि
की जीब इस कला में महारत हासिल है. जिस ढंग से उसकी जीब उसकी चूत को चाट रही थी उसे उसके शरीर में उत्तेजना बढ़ती जा रही
थी.

इतने में उसने देखा कि उसका पति राज ने रश्मि के पीछे आ अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया है.

जैसे ही राज रश्मि की चूत में धक्का देता, रश्मि की जीब ज़ोर से प्रीति की चूत मे घुस जाती. प्रीति आनंद के अनोखे सागर में
डूब चुकी थी, उसके मुख से आनंद की मादक सिसकारियाँ और आवाज़े फुट रही थी.

“हां रश्मि और ज़ोर से उसकी चूत को चूसो” राज ने अपने धक्कों की रफ़्तार बढ़ाते हुए कहा.

राज को इतनी कस के रश्मि की चुदाई करते देख प्रीति से अब रोका ना जा रहा था, रश्मि के मुँह में अपना पानी छोड़ने के अलावा उसके पास
कोई चारा नही था.

राज ने अपना लंड रश्मि की चूत से बाहर निकाला, “रश्मि यहाँ आओ” रश्मि मूडी और अपनी ज़ुबान बाहर निकाल दी. राज ने अपने लंड को
घस्ते हुए अपना वीर्य रश्मि की बाहर निकली जीब पर छोड़ दिया. रश्मि राज के सारे वीर्य को पी गयी और प्रीति के बगल में आ
बैठ गयी.

यह कहानी भी पड़े  रंडी पोलिसेवली औरत से हॉट चुदाई

“अपने पति को मुझसे बाँटने के लिए शुक्रिया,” कहकर रश्मि ने प्रीति के होंठो पर अपने होंठ रख दिया. “वो बहोत ही अच्छा प्रेमी
है.”

प्रीति ने अपने पति के वीर्य का स्वाद अपने होंठो पे महसूस किया, उसी समय जीत हॉल में दाखिल हुआ.

“वाह क्या नज़ारा था, इस नज़ारे ने मेरे लंड को फिर खड़ा कर दिया है और में और चुदाई करना चाहता हूँ.” जीत ने अपने खड़े लंड
को हिलाते हुए कहा.

प्रीति ने मुस्कुरा कर जीत की ओर देखा और घोड़ी बन गयी. जीत उसके पीछे आ अपनी दो उंगलियाँ उसकी चूत मे डाल अंदर बाहर कर
रहा था. वो साथ ही अपने अंगूठे से उसकी चूत को रगड़ रहा था.

राज ये सब देख रहा था पर अपने आधे खड़े लंड को पकड़ उसने दूर ही रहना उचित संहा कारण उसमे इतनी ताक़त नही थी वो उनका साथ दे
सके.

“मेरी बीवी को मर्दों को खुश करना आता है.” उसने मन ही मन सोचा.

जब जीत ने देखा कि प्रीति उसकी उंगलियों के ताल से अपने कूल्हे पीछे कर उसका साथ दे रही है तो उसने अपने उंगली की जगह अपना लंड उसकी
चूत में पेल दिया.

जीत अब प्रीति को चोद रहा था और उसके हर धक्के पर प्रीति के मुँह से सिसकारी निकल रही थी.

“प्रीति में तुम्हे रश्मि की चूत चाट ते हुए देखना चाहता हूँ?’ जीत ने कहा.

रश्मि प्रीति के मुँह के सामने आ अपनी टाँगे फैला लेट गयी. प्रीति अपनी ज़ुबान निकाल रश्मि की चूत के बाहरी हिस्से को चाटने लगी.

यह कहानी भी पड़े  खूबसूरत जवान राधिका को चोद कर नौकरी दी

प्रीति ज़ोर से रश्मि की चूत चाट रही थी और वहीं जीत ज़ोर के धक्के मार रहा था. प्रीति को अपना पानी छुट ता महसूस हुआ और वो
ज़ोर से रश्मि चूत को चूसने लगी.

रश्मि के मुँह से भी सिसकारिया निकल रही थी, प्रीति का शरीर आनंद में कांप रहा था उसी समय उसने महसूस किया कि जीत ने ज़ोर
के धक्के मारते हुए अपना वीर्य उसकी चूत में डाल दिया है.

रश्मि ने जब देखा कि उसका पति प्रीति की चूत में अपना पानी छोड़ चुका है तो उसने प्रीति का सर अपनी चूत पे दबा अपना भी पानी प्रीति के मुँह में छोड़ दिया.

चारो लोग निढाल हो थक कर सोफे पर पसर गये. जीत प्रीति के मम्मे सहला रहा था और राज रश्मि की जांघों को.

“हमे ये सब एक बार फिर दुहराना चाहिए.” जीत ने प्रीति के मम्मे भींचते हुए कहा.

जीत ने सबको कंबल ओढ़ने के लिए दिए. प्रीति खुद ख्यालो मे खोई हुई थी कि पता नही भविस्य में और क्या लिखा है. थोड़ी
देर मे चारों गहरी नींद में सो गये
दोस्तो आपको ये कहानी कैसी लगी ज़रूर बताना आपका दोस्त राज शर्मा

समाप्त

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

error: Content is protected !!