ऑफीस वाली मस्त रीना

मैं सलमान देल्ही से आज एक बहुत मस्त कहानी आपके लिए ले कर आया हूँ. ये कहानी मेरे और मेरे साथ ऑफीस मे काम करने वाली रीना के बीच उसके साथ मेरे पहले सेक्स की है. ये कहानी एक दम सच्ची है, तो अब अपना लंड हाथ मे ले कर मज़ा लीजिए.

मेरी उम्र 21 साल है, दिखने मे हॅंडसम और स्मार्ट हूँ. मैं एक गूवरमेंट जॉब करता हूँ. पर टाइम पास के लिए पार्ट टाइम एक मार्केट्टिंग की जॉब करता था. मैं जिस कंपनी मे काम करता था, वो कंपनी 4 प्रॉडक्ट बनाती है. जिसे मैं और मेरी टीम के कुछ मेम्बर लोगो के घर जा कर उसका डेमो देते थे.

मुझे अपना ये काम बहुत अच्छा लगता था. सच कहूँ तो मैं इतने पैसे कमा लेता था, जीतने पैसे मैं अपनी गूवरमेंट जॉब से भी न्ही कमा पता था. इसलिए मुझे ये जॉब बहुत अच्छी लगती थी.

धीरे धीरे मेरी कंपनी मे प्रामोसन हो गई. मुझे मेरे बॉस ने मेरा काम देख कर, मुझे कंपनी मे सेल्स मॅनेजर बना दिया. अब मैं कंपनी मे सारी सेल्स देखता था.

एक दिन एक लड़की ऑफीस मे आई और उसने बॉस से मिलने के लिए काहा. मैने उसे बॉस के कॅबिन का रास्ता दिखा दिया. क्या कमाल की लड़की थी. उसको देख कर मेरी पेंट मे कुछ होने लग गया.

क्योकि वो दिखने मे बहुत अच्छी थी, उसका रंग गोरा पतली कमर बड़े बूब्स और बाहर निकलती गांड, सच मे साली ने मुझे अपना दीवाना बना दिया था, मैं तो उसको देख कर पागल हो रा था. मुझे उसका जिस्म बहुत ही भा गया था. मैं मन के अंदर ही सोच रा था, की काश ये लड़की मेरे साथ ही जॉब करे.

यह कहानी भी पड़े  ऑफिस की मैडम ने औलाद के लिये चूत चुदवाई

मेरे दिल की बात सच हो गई, वो मेरी तरह पार्ट टाइम काम करना चाहती थी. बॉस ने उसे मेरे पास भेज दिया, ताकि मैं उसे अच्छे से सेल करना सीखा दू. अब वो मेरे अंडर काम करने वाली थी.

मैने उसका नाम पूछा, उसने अपना नाम मुझे रीना बताया. उसकी उम्र सिर्फ़ 19 साल थी. मेरा मन उसको देख कर खुशी के मारे उछाल रा था. मेरा तो दिल कर रा था, की मैं उसके बूब्स को पकड़ कर अभी दबा दू.

पर जैसे तैसे मैं अपने उपर कंट्रोल कर रा था. फिर हम दोनो मे थोड़ी बहुत बातें होने लग गई. उसका घर ऑफीस से करीब 2 की.मी दूर था. वो कुछ दिन बाद मुझे अपने घर ले गई.

उसके घर मे उसके मम्मी पापा और उसे छोटे एक भाई और एक बेहेन थी. रीना सबसे बड़ी लड़की थी, इसलिए वो घर चलाने के लिए पार्ट टाइम काम करके थोड़े पैसे कमाना चाहती थी. ये बात मुझे उसकी मम्मी ने बताई. उसकी मम्मी ने कहा, की आज तक रीना ने ऐसा कुछ काम न्ही किया है.

इसलिए सेल की जानकारी लेनी होगी, पर आप फिकर मत करो. मैं रीना को सब कुछ सीखा दूँगा. फिर मैं उसके घर से निकल गया, मुझे रीना बहुत ही पसंद आने लग गई.

ऐसे ही थोड़े दिन और निकल गये, एक दिन दोपहर को मैने एक कस्टमर के घर अपना प्रॉडक्ट दिखा कर आना था. मैं जाने ही वाला था, की तभी मेरे पास रीना का फोन आया. उसने काहा मैं आज फ्री हूँ, अगर कोई काम है तो बताओ.

मैने उसे कह दिया, की आज मैं एक प्रॉडक्ट का डेमो देने के लिए जा रा हूँ. अगर वो आना चाहती है, तो वो मेरे साथ चल सकती है. उसने चलने के लिए झट से हा कर दी. वो करीब 10 मिनिट मे ऑफीस मे आ गई. फिर हम दोनो ऑफीस से एक साथ निकल लिए.

यह कहानी भी पड़े  ऑफिस की लड़की से जिस्मानी रिश्ता सही या गलत-1

ऑफीस से हमने बस ली, बस मे बहुत भीड़ थी. इसलिए हम दोनो एक साथ एक दूसरे से
चिपक कर खड़े हो गये. बस ब्रेक के कारण हिल रही थी, इससे रीना गिर रही थी. मैने उसको कमर से पकड़ लिया, ताकि वो ना गिर जाए.

मैने उसे कस्स कर प्कड़ा हुआ था, उसने मुझे इस के बार भी कुछ न्ही काहा था. इससे मेरी हिम्मत बढ़ गई थी. थोड़ी ही देर मे मैने गिरने का नाटक किया, तभी रीना ने अपना एक हाथ मेरी कमर मे डॉल लिया. इससे हम दोनो का जिस्म एक दूसरे से चिपक गया.

उसके बूब्स मेरे छाती से लगे हुए थे. ये देख कर कसम से मुझे मज़ा आ रा था. मैने मोके का फ़ायदा उठा कर उसके गाल पर हल्के से किस कर लिया. उसने मुझे कुछ न्ही काहा, और मुझे देख कर हसने लग गई.

अब तक मेरा लंड खड़ा हो चुका था, इतने मे हम दोनो अपनी मंज़िल मे पहुच गये. वाहा से हम दोनो ने जल्दी से अपना काम ख़तम किया और फिर आते हुए मेट्रो मे आए.

मेट्रो मे भी बस वाला हाल था. वाहा भी बहुत ज़्यादा भीड़ थी. जिस वजह से हम दोनो फिर से एक साथ चिपक कर खड़े हो गये. मैं अब बहुत गरम हो चुका था. इसलिए मैने अब मौका देख कर उसके बूब्स को मसलना शुरू कर दिया.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!