मेरी असिस्टेंट, मेरा बिर्थडे गिफ्ट

खैर मैने अपनी जीब बाहर निकाली और उसकी चूत को चाटने लग गया. उसकी चूत मे से कुछ ही देर मे नमकीन सा रस निकलने लग गया. और फिर रिया ने मेरा सिर पकड़ा और अपनी चूत पर लगा लिया. और खूब ज़ोर-ज़ोर से अपनी गांड को उप्पर नीचे करने लग गई. और मेरा सिर अपने दोनो हाथो से अपनी चूत मे दबाने लग गई.

करीब 5 मिनिट बाद ही मेरे मूह पर एक जोरदार पिचकारी आई जो की रिया की जवानी का रस्स था. मैने सारा उसकी जवानी का रस्स चाट-चाट कर पी लिया. रिया शांत हो गई और उसको देख कर लग रहा था जैसे वो काफ़ी ज़्यादा थक गई हो. मैं उप्पर आया और उसके बूब्स के निप्पल्स को फिर से चूसने लग गया. और फिर उसके पेट पर बैठ कर अपना लंड उसके दोनो बूब्स के बीच रख कर उसके बूब्स चोदने लग गया. मेरा लंड का उप्पर वाला हिस्सा उसके होंठो पर लग रहा था.

रिया ने अब अपना मूह खोल लिया और मेरा लंड चूसने लग गई. फिर मैने उससे अपना लंड अच्छे से चुसवाया. वो पहले ना ना कर रही थी पर मेरी ज़िद के आगे उसने हाँ कर दी. लंड को 15 मिनिट तक चुसवाने और चटवाने के बाद. मैं नीचे गया और उसकी दोनो टाँगे अपने कंधो पर रखी और अपना लंड उसकी चूत के उप्पर सेट करके. एक जोरदार धक्के से अपना पूरा लंड उसकी चूत मे ही उतार दिया.

रिया ज़ोर से चिल्लाई पर अब कुछ नही हो सकता था. लंड चूत के अंदर समा चुका था. मैने ज़ोर-ज़ोर से उसकी चूत मारनी शुरू कर दी और उसकी चिल्लाने की आवाज़ धीरे-धीरे शांत हो गई. अब रिया को भी चुदने का मज़ा आने लग गया था. वो अब अपनी गांड को उठा उठा कर अपनी चूत मरवा रही थी. मुझे सच मै अब चुदाई करने मे बहोत मज़ा आ रहा था. रिया की चूत ने अब तक 2 बार अपना पानी निकाल दिया था.

यह कहानी भी पड़े  पति से बेवफ़ाई की सजा

अब मेरे लंड की बारी थी मैने झट से अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाला और रिया के मूह मे थुस दिया. मैं ज़ोर ज़ोर से उप्पर नीचे करके उसका मूह चोदने लग गया. मैने रिया से कहा चल अब तू मेरे लंड का पानी पी, पर उसने मुझे मना कर दिया. पर जब मैं उसका मूह चोद रहा था तभी मैने उसके हाथ पकड़ लिए और ज़ोर ज़ोर से उप्पर नीचे करने लग गया.

कहानी पढ़ने के बाद कृपया अपना फीडबैक नीचे कॉमेंट सेक्शन मे ज़रूर लिखिए, या फिर आप मुझे ईमेल भी कर सकते है और अब फॉलो कीजिए देसिकहानी फ़ेसबुक और गूगल+ पर.

करीब 2 मिनिट बाद मेरे लंड बहोत सारा पानी उसके मूह मे निकाल दिया. रिया को ये पसन्द नही था. पर जब तक उसने मेरे लंड का सारा पानी पिया नही तब तक मैने भी अपना लंड उसके मूह से बाहर नही निकाला. जब सब कुछ हो गया तो मैने अपना लंड बाहर निकाला. और फिर रिया के चेहरे पर सेक्सी सी स्माइल आ गई थी.

कुछ देर रेस्ट करने के बाद मैने रिया को एक बार और अच्छे से चोदा. और खूब जम कर उसकी गांड मारी. उस दिन मैने रात को रिया को जाने नही दिया और पूरी रात उसे रंडी बना कर चोदा.

दोस्तो, आप को मेरी ये कहानी कैसी लगी. प्लीज़ मुझे ज़रूर बताना. मुझे आप के कॉमेंट्स और ईमेल्स का बेसबरी से इंतेज़ार रहेगा.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

error: Content is protected !!