मामा के पड़ोसी से चुदाई

हाय दोस्तो, मैं प्रियंका फिरसे वापस आई हूँ एक नयी कहानी लेकर और पहले तो मैं आप सब को थॅंक्स कहूँगी मेरी पिछले दोनो कहानियाँ आप सबको इतनी पसंद आई और मुझे बहुत सारे मेल्स भी आए और कुछ लोग के साथ मैं अभी तक चॅट कर रही हूँ और सॉरी जिनके साथ मैं बात नही कर पाई पर आगे से ट्राइ करूँगी सबके साथ बात करने के की और एक बात फ्रेंड्स मैं आप सब को बता दू की मैं सच मे एक गर्ल हूँ ना की एक बॉय मैं ये आपको इसीलिए बता रही हूँ की कुछ लोग को विश्वास नही हुआ की मैं गर्ल हूँ तो फ्रेंड्स ये सब छोड़ के स्टोरी पर आते है जैसे की आप सब को पता है की मुझे सेक्स करना कितना पसंद है और मेरा साइज़ आपको तो पता है फिर भी एक बार और बता देती हूँ की मेरे बूब्स 34 कमर 32 और गॅंड 36 की है फ्रेंड्स ये बात करीब 6 महीने पहले की है और गर्मियों की छुट्तियों के टाइम थी छुट्टी की वजह से मैं मेरे मामा के घर घूमने गयी थी.

मैं एक महीने रही और जम के चुदाई भी की तो बात ये है की वैसे तो जो भी मुझे एक बार देखले उसका चुदाई करने का मन होगा तो मामा के घर के पास एक पड़ोसी रहते थे उनका एक बेटा था उसका नाम अशोक था और अशोक मेरे से एक साल छोटा था यानी की उसकी उमर 20 साल है और मुझे नही पता थी की वो मुझे कब से चोदने के लिए बेताब है, तो मैं उनके घर हमेशा जाती रहती थी तो उस्दीन उसके मा पापा किसी वजह एक महीने के लिए गये थे तो उसका ख़याल रखने के लिए मामी को उसकी मा ने कह के गयी थी तो उस्दीन जब मैं खाना लेके गयी तो वो घर पे नही था और उसकी घर की ड्यूप्लिकेट की उसकी मा ने मामी को देके गये थी, तो मैने डोर खोला और वो नही था तो मैने सोचा की थोड़ा रेस्ट ले लेती हूँ तो मैं बेड पर लेट गयी और मुझे हाली नींद आ गयी थी और इसी बीच 30 मिनट हो गये थे और तब मुझे ऐसा फील हुआ की जैसे कोई मेरे बूब्स प्रेस कर रहा हो और मेरी चुत सहला रहा है.

यह कहानी भी पड़े  एक दिन हम जुदा हो जायेंगे

मैने थोड़ी सी आँख खोली तो देखा की वो अशोक था वो मेरे बूब्स प्रेस कर रहा था और मेरी पैंटी के अंदर हाथ डाल कर मेरी चुत सहला रहा था और तब तक मेरी चुत पानी छोड़ चुकी थी और मैं गरम होने लगी थी और मुझे अछा लग रहा था इसीलिए मैने उसे कुछ नही कहा पर उसे लग रहा था की मैं गहरी नींद मे सो रही हूँ पर मैं सब देख रही थी और जब मेरी चुत ने पानी छोड़ा तो वो मेरी चुत को चाटने लगा और मुझे बहुत अछा लग रहा था मैं थोड़ा हिली तो वो डर गया पर फिर वो बहुत अछी तरह से चाट रहा था और मैं बहोत गरम हो चुकी थी और मेरी साँसे तेज होने लगी थी, तब उसने अपनी पैंट की ज़िप खोली और उसका लॅंड निकाला उसका लॅंड करीब 9″ का था, तो मैं उसके लॅंड को देख के खुशी से पागल हो गयी की आज इतने बड़े लॅंड से चुदाई करूँगी और फिर उसने अपना लॅंड मेरी चुत पे रगड़ने लगा और अब मुझसे रहा नही जा रहा था तो मैं मोनिंग करने लगी.

और मेरे मूह से आआननह हमम्म्म उूउउम्म्मंह आअन्न्न्ह्ह्ह्हा उुउऊहह की आवाज़े निकलने लगी, तो उसे पता चल गया की मैं जाग रही हूँ तो वो मुझे मेरे लीप पे किस करने लगा तो मैं भी रेस्पोन्से देने लगी तो वो बहोत आछे से किस कर रहा था और फिर वो मेरी ड्रेस खोलने लगा और उसने पहले कभी सेक्स नही किया था तो उसने मेरे सारे कपड़े एक ही बार मे खोले और खुद भी नंगा हो गया, जब उसने मुझे बिल्कुल नंगा देखा तो वो पागल हो गया और वो मुझे कहने लगा की दी आप तो एक दम पाठाका लग रही हो तो मैं उसे बोली की “अगर तू मुझे चोदना चाहता था तो पहले क्यो नही बताया” तो वो बोला की वो थोड़ा डर रहा था फिर वो मुझ पर टूट पड़ा और मेरे बूब्स दबा रहा था और मेरी पूरी बॉडी को चूम रहा था और मैं उसके लॅंड को हाथ मे पकड़ कर सहला रही थी और फिर हम लोग 69 पोज़िशन मे आ गये और मैं उसका लॅंड चूस रही थी और वो मेरी चुत चाट रहा था.

यह कहानी भी पड़े  मेरी सहेली की मम्मी की चुत चुदाइयों की दास्तान-5

और करीब 10 मिनट बाद उसने मेरे मूह मे अपना माल छोड़ दिया और मैं उसका सारा माल पी गयी और चाट चाट के उसका लॅंड सॉफ कर दिया, फिर मैं उसका लॅंड सहलाने लगी और वो मेरी चुत चाट रहा था और मेरी चुत मे उंगली कर रहा था साले ने कभी सेक्स नही किया था पर ब्लू फिल्म देख देख के अछी तरहा चोदना सिख गया था और फिर 15 मिनट बाद उसका लॅंड फिरसे खड़ा हो गया और वो मेरी चुत पे अपना लॅंड रख के धक्का देने लगा, पहले एक धक्के मे उसका आधा लॅंड मेरी चुत मे घुस गया और फिर उसने और एक झटका दिया और उसका पूरा का पूरा लॅंड मेरी चुत मे समा गया मुझे दर्द हो रहा था पर मैने वो दर्द सह लिया, फिर उसने धीरे-धीरे मुझे चोदना शुरू किया और अपनी स्पीड बढ़ाई और वो बहुत जोरसे झटके मार रहा था तो मैं भी नीचे से उछल-उछल के उसका साथ दे रही थी, वो मेरे बूब्स चूस रहा था और उसे दबा रहा था और मुझे बहुत जोरसे चोद रहा था.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!