कमसिन कम्मो की स्मार्ट चूत

और कम्मो ने वही किया. उसने मेरे एक ऐसे ही दोस्त का मैसेज खोल दिया. फोन की स्क्रीन पर देसी नंगी जवान लड़की अपने पैर खोले एक हाथ में फुट भर लम्बा काला मोटा डिल्डो लिए चूस रही थी और दूसरे हाथ की उँगलियों से उसने अपनी चिकनी चूत खोल रखी थी.
वो फोटो खुलते ही कम्मो थोड़ी घबरा सी गयी और उसने फोन की स्क्रीन को अपने हाथ से छुपा लिया. इधर मैंने जानबूझ कर बाहर देखना चालू रखा, जैसे मुझे पता ही न हो कि कम्मो क्या देख रही है.

कम्मो भी टैक्सी की दूसरी ओर की खिड़की के पास खिसक गयी और मजे से वो सब क्सक्सक्स नंगे फोटो और चुदाई के वीडियो देखती रही. कोई तीन चार मिनट बाद ही कम्मो ने अपनी पैर अच्छी तरह से खोल दिये जिससे उसकी जांघें खूब चौड़ी हो गयीं फिर उसने मेरी तरफ कनखियों से देखा कि कहीं मैं उसे वाच तो नहीं कर रहा. फिर उसने मेरे मोबाइल में देखते हुए अपनी टांगों के बीच हाथ ले जाकर जल्दी जल्दी कहीं खुजाया और कुछ देर अपना हाथ वहीं रखे रही; मैं समझ गया कि वो अपनी चूत का दाना मसल रही थी या चूत से खेल रही थी.

मैं टैक्सी के बाहर देख जरूर रहा था पर मेरा ध्यान कम्मो पर ही था कि वो क्या क्या कर रही है.

कोई पंद्रह बीस मिनट तक हो यूं ही मेरा फोन खंगालती रही. फिर उसने फोन वहीं सीट पर रख दिया और सामने वाली सीट से सिर टिका कर आँखें मूंद कर गहरी गहरी सांसें लेने लगी. सांस के उतार चढ़ाव के साथ उसके बूब्स भी जैसे उठ बैठ रहे थे. उसकी चूत भी जरूर पक्का गीली हो चुकी होगी.
मैंने जानबूझ कर उससे कोई बात नहीं की. मैं चाहता था कि वो सामान्य महसूस करने लगे तब उससे कुछ कहूं.

यह कहानी भी पड़े  बड़ी साली की दबी हुई अन्तर्वासना

फिर थोड़ी देर बाद …

जवान लड़की की चाहत की कहानी जारी रहेगी.

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!