शीला की जवानी को चोदकर उसे औरत बनाया

“ओह्ह सुकेतु…मेरी जान, अब मुझे और मत तड़पाओ और जल्दी से मेरी गर्म चूत में अपना लौड़ा डाल दो!!” शीला कहने लगी और अपने होठ दांतों से काट काटकर चबाने लगी। साफ था की वो जल्दी से चुदाना चाहती थी। मेरा मोटा लंड जल्दी से खाना चाहती थी। पर मैं भी पुरे मजा मारना चाहता था। मैं जल्दी जल्दी उसकी चूचियां चूस रहा था। मुझे बहुत मजा मिल रहा था। आज मेरा जन्मो जन्मो का सपना पूरा हो गया था। मैं यही सोचता था की अब उसकी रसीली चूचियां चूसने को मिलेगी और आज मेरा सपना सच हो गया था। फिर मैंने उसकी दूसरी चूची मुंह में भर ली और पीने लगा। मैं हाथ से उसे दबा भी रहा था। उफफ्फ्फ्फ़ इतनी मुलायम और नर्म चूचियां मैंने आजतक नही चूसी थी। शीला की चूत में जलजला उठ गया था। वो बार बार अपनी जांघो को खोलती और बंद करती। वो पागल हो रही थी।

मैं फिर से किसी चुदासे लौंडे की तरह उसकी चूची को पीने लगा। फिर मैं उसकी चूत पर आ गया। वो चूत को हाथ से छूपाने लगी। शावर का पानी उपर से हम दोनों को भिगो रहा था जो बहुत रोमांटिक मौसम बना रहा था।

“तेरी माँ की चूत. मेरा लंड खाएगी और चूत को हाथ से भी छिपाएगी!! हटा बहन की लौड़ी!! मैंने कहा और उसके हाथ उसकी बुर से हटा दिए। शावर का पानी अब उसकी चूत पर भी गिर रहा था। मैंने शीला के फिर खोल दिए और चिकनी चूत को मुंह से लगाकर पीने लगा। दोस्तों आज मेरी जिन्दगी जैसी हमेशा के लिए बदल गयी थी। मेरे मोहल्ले की सबसे खूबसूरत लड़की की चूत पीने का सुअवसर आज मुझे मिला था। मैं जीभ लगाकर उसकी चूत चाटने और पीने लगा। मैं आग उसकी रसीली चूत को खा जाना चाहता था। यही मेरा दिल कर रहा था। मैं गड़ा गड़ाकर गहराई से उसकी बुर पी रहा था। शीला”आऊ…आऊ..हमममम अहह्ह्ह्हह.सी सी सी सी..हा हा हा..” की आवाज निकाल रही थी।

यह कहानी भी पड़े  पुणे की पोश आंटी को चोदा

फिर मैंने अपना 9″ का लौड़ा उसके हाथ में पकड़ा दिया और वो जल्दी जल्दी उसे फेटने लगी। मैं भी बाथरूम के फर्श पर शीला के साथ ही लेट गया था। वो जल्दी जल्दी मेरा लौड़ा फेट रही थी। कुछ देर बाद मैंने उसकी चूत में लंड रखकर जोर का धक्का मारा। उसकी सील टूट गयी। वो चिल्लाने लगी। उसे दर्द हो रहा था। मैंने जल्दी जल्दी उसकी चुद्दी चोदने लगा। उसकी चूत मारने लगा। शीला “..उंह उंह उंह हूँ.. हूँ.हूँ..हमममम अहह्ह्ह्हह..अई.अई.अई…” की आवाजे निकालने लगी। मैं जल्दी जल्दी उसे खाने लगा, उसकी चुद्दी मारने लगा। हम दोनों बाथरूम के शावर में भीग रहे थे और गर्मागर्म सेक्स कर रहे थे। कुछ देर बाद मेरा खीरे जैसा लौड़ा जल्दी जल्दी उसकी चुद्दी [चूत] में फिसलने लगा। वो अपनी गांड और कमर बार बार उठाने लगी और चुदवाने लगी। दोस्तों मैंने २ घंटे बाथरूम में उसकी चूत चोदी। फिर उसकी माँ की लौड़ी की गाड़ मार ली। सब मेरे हैण्डीकैम कैमरे में रिकॉर्ड हो गया था। उसके बाद मैंने उसकी सीडी बनाकर एक कॉपी शीला को दे दी। और एक अपने पास रख ली। वो बहुत खुश थी और रोज उसे देखती थी।

Pages: 1 2 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!