घूमने के लिए आई टूरिस्ट की चुदाई

वे भी हम दोनों का मुकाबला देखने लगी. मैंने अपनी पूरी ताकत लगा दी. करीब एक घन्टे तक हमारा मुकाबला चला और आखिर में उस महिला ने जब मुझे कसकर पकड़ लिया तो मैंने भी अपने लिंग में जमा हुए सारे मलाईदार दूध को उसके जननांग में छोड़ दिया
रात के करीब एक दो बज चुके थे. वे पाँचों युवतीयां फिर से तैयार थी. अब मैं अकेला छह. मैंने सभी को जमीन पर लिटाकर अपनी पूरी ताकत से चित्त कर दिया.
सवेरा होने तक एक सीधा सदा छोरा पूरी तरह से बिगड़ चुका था. .

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!