Category «रिश्तों में चुदाई Incest Kahani»

दीदी की गाण्ड चाटी और चोदी

हैलो दोस्तो, मैं दिल्ली से हूँ, मेरा नाम रॉक राजपूत है, मेरी उम्र 23 साल, कद 5’6″ स्मार्ट हूँ, लंड का साइज़ 7″ से थोड़ा ज़्यादा है। मुझे चूत चोदना और चाटना बहुत पसंद है, गाण्ड चाटने का मेरा बहुत मन करता है। मुझे चूत चाटने का भी बहुत मन करता है। चूत की महक …

मेरी सासू माँ की चुदाई कहानी

आप को सबसे पहले मैं अपना परिचय कराता हूँ, मेरा नाम रोशन है. मैं मुम्बई में रहता हूँ. मेरी उमर 32 साल कि है, मैं शादि शुदा हूँ. और मेरी एक बच्ची है, और मेरे साथ जो घटा है वो सब सच है. यह कहानी मेरी है मैंने शादि अपनी मम्मी कि बहन कि लडकी …

चाची ने खोला चूत का पिटारा

कुंदन के कपडे सारे भीग गए थे. वो बरसात में नहा के जो आया था. अब उसे डर था की घर ऐसे भीगे कपड़ो में गया तो माँ और दीदी पका देंगी बोल बोल के. उसके मन में तभी एक विचार आया और वो प्रीती आंटी के घर की और चल पड़ा. वो उसे प्रीती …

एक शैतान बाप की नज़र

मेरा नाम राजीव चोपडा है ! मरी शादी हो चुकी है और मै 42 साल का हूँ मरे २ लड़किया और १ लड़का है बड़ी लड़की की उमर 22 साल है और दूसरी की उमर 19 साल और लड़का १० साल का है दरसल मेरी शादी १९ साल की उमर मई हे हो गयी थी …

ससुर जी से अपनी प्यास बुझाई

मेरी उम्र सताईस वर्ष है, मेरा रंग सांवला जरुर है लेकिन लोगों का कहना है की मेरे नयन नक्श बहुत आकर्षक हैं, मैं इकहरे बदन की दुबली पतली और लंबी युवती हूँ, मेरी पतली कमर ने मुझे सिर से पांव तक सुन्दर बना रखा है, मेरे पति ने सुहागरात को बताया था कि जब वे …

घर की बात घर में

mastram chudai kahani ghar ki baat ghar mai भाभी की कोई सहेली कुछ दिनों के लिए घर पर आई हुई थी। भाभी की वो हम उम्र थी। कोई ३२-३३ साल की रही होगी। भाभी और मेरे सम्बन्ध वैसे भी मधुर थे। जब भी भाभी की इच्छा होती थी वो, ज्यादातर दिन को, भैया के जाने …

पारूल दीदी का भीगा बदन

पहले मैं अपना परिचय दे रहा हूँ : मेरा नाम समीर है, उम्र 28 साल है, कद 5 फ़ीट 9 इंच और मेरा लंड 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है। दोस्तो, बात तब की है जब मैं 21 साल का था, अपनी छुट्टियों में अपनी मामा के घर गया था। उसी दिन मेरी …

मेरी जानू और उसकी माँ

यह उस समय कि बात है जब मैं अपने गाँव से 150 किमी दूर शहर में रहकर बीकॉम 2 की पढ़ाई कर रहा था। शहर में मैं कमरा लेकर अकेला रहता था, मैं अलग से फ़ैमिली रूम में रहता था इसलिये वहाँ आस-पास के लोगों से अच्छी जान-पहचान हो गई थी। और तो और मेरी …

error: Content is protected !!