हॉट इंडियन भाभी की गांड मारी

हेल्लो दोस्तों में विकास आज फिर से आपके लिए अपनी जिंदगी का एक और सच लेकर आया हु. मुझे उम्मीद हे की आपको मेरी आज की यह कहानी जरुर पसंत आएगी और आप सबी को पता चलेगा की कई मर्द शादी के बाद अपनी पत्नी को ठीक से चोद नहीं पाते इसलिए उनकी ऐसी हॉट इंडियन भाभी दुसरे मर्द की तलाश करती हे जिनका लंड उनके पति के लंड से ज्यादा दमदार हो.

मेरी आज की कहानी भी कुछ ऐसी ही हे. यह बात कुछ ज्यादा पुरानी नहीं हे, करीब २ महीने पुरानी हे, मेरे पड़ोस में एक दोस्त पवन रहता हे, हम दोनों बचपन से अच्छे दोस्त हे. पिछले ४ महीने पहले की बात हे, वो मुझसे मिला और मुझे बताया की यार मेरी शादी पक्की हो गयी हे और जल्दी ही मेरी शादी हो जाएगी. मुझे उसकी बात सुनकर ख़ुशी हुई क्योंकि उसके घर पर उसकी माँ नहीं थी, वह पहले की चल बसी थी.

उसके घर पर वह और उसके पापा रहते थे. अगले १५ दिन बाद उसकी शादी हो गई और मेरी बदनसीबी तो देखिए मैं अपने दोस्त की शादी में नहीं जा सका क्योंकि दिल्ली मेरे ताऊ जी की अचानक हालत बहुत खराब हो गई थी, इसलिए मैं अपने पापा के साथ ही चला गया था.

जब मैं घर वापस आया तो मेरे ने बताया साले तू मेरी शादी में क्यों नहीं आया? तो मैंने बोला यार मुझे पता भी नहीं चला कि तेरी शादी कब हुई, अभी पिछले हफ्ते तो तेरी शादी पक्की हुई थी.

मनीष – अब तो शादी भी हो गई है.

मैं – इतनी जल्दी? लड़की वाले क्या तैयार बैठे थे कि कब लड़की की शादी पक्की हो और कबी हम इसे विदा करें.

यह कहानी भी पड़े  जवान पड़ोस की लड़की की चुदाई

मेरी बात सुनकर मनीष हंसने लगा और बोला नहीं यार ऐसी कोई बात नहीं है. तूझे तो पता है घर में बहू की कितनी जरूरत है, फिर मैं और पापा कब तक अपने आप खाना बनाएंगे?

मैं – हां यह भी ठीक है. चल अब मैं तुझसे पार्टी तो मांगता, तेरी शादी हो गई यह मेरे लिए एक बड़ी पार्टी है.

मनीष पार्टी की बात सुन कर पार्टी देने के लिए जिद करने लगा, पर मुझे पार्टी का कोई शौक नहीं है. इसलिए मैंने बोला चल ठीक है अगर ज्यादा ही पार्टी के लीये कह रहा हे तो चल घर चलते हैं, आज भाभी के हाथ की चाय पी लूंगा और वही पार्टी होगी मेरे लिए.

मनीष – ठीक हे, पर चाय ही नहीं, आज रात का डिनर भी मेरे साथ ही करना पड़ेगा, ओके?

मैंने हंसते हुए कहा हां चल ठीक है यार.

और फिर हम बातें करते हुए उसके घर चले गए, मै ने जैसे ही भाभी को देखा तो उसे देखता ही रह गया, दोस्तों क्या कमाल की लड़की थी? क्या फिगर था. मेरा तो उस पर पहली बार में ही दिल आ गया, फिर मनीष ने हम दोनों का इंट्रोडक्शन करवाया, उसका नाम टीना था और सच में उसे मेरे दिल में तन तन कर दी थी.

फिर मेने उसके घर चाय पी और डिनर भी खाया. सच में एक खूबसूरत लड़की बहुत ही टेस्टी गरम-गरम खाना बनाती है, उसके हाथ खाना खाकर मुझे मजा आ गया. कुछ दिनों में मेरा उसके घर आना जाना हो गया, और अब भाभी भी मेरे घर आने जाने लगी थी, मैंने एक बात नोट करी थी, वह मुझे तिरछी नजरों से देखती. और मुझे देख कर अक्सर मुस्कुरा देती थी.

यह कहानी भी पड़े  गेंगबेंग कहानी 4 लंड ले के मैंने अपनी जॉब बचाई

मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि यह मेरे साथ क्या हो रहा है? एक दिन संडे की बात है, मैं बाहर अपने आंगन ने अपनी बाइक को धो रहा था, तभी टीना भाभी मेरे घर अपने कुछ कपड़े लेकर आइ और बोली आज मेरे घर पानी नहीं आ रहा हे, क्या मैं आंगन में अपने कपड़े धो सकती हूं?

मैंने बोला हां भाभी हां, यह पूरा घर आपका है, जो मर्जी करो.

फिर वह मेरे सामने बैठकर कपड़े धोने लगी, उसने अपने गले में चुन्नी डाली हुई थी और वह नीचे हो रही थी. जब भाभी थोड़ी नीचे झुकी मुझे उनके गोर गोरे बूब्स दिखने लगे, मेरी तो किस्मत खुल गई थी. मैं तो उनके बूब्स को देखने लग गया. जब भाभी को पता चला कि मैं सामने से उनके बूब्स देख रहा हूं और भाभी ने मेरी तरफ देखा और मुस्कुराया और अपनी चुन्नी उतार कर साइड में रख दी, और अपना सूट निचे कर के अपने आधे बूब्स मुझे दिखाने लगी.

ऐसी और सेक्सी कहानी पढ़े: 11 इंच के अफ्रीकन लंड से मेरी बहन की चुदाई
मेरी तो आज लॉटरी लग गई थी. मैंने करीब एक घंटा उसके बूब्स के दर्शन किये और जब भाभी गयी तो मैंने अपने रूम में जाकर अपने सारे कपड़े उतारे और भाभी के बूब्स को सोच कर दो बार मुठ मारी. मुझे अब कैसे भी कर के भाभी को चोदना था. मेरे दिमाग में भाभी को चोदने का भूत सवार हो चुका था, मैं अब दिन रात भाभी को चोदने का प्लान बनाने लगा.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3