Hindi Porn Kahani हरामी बलमा

अभी हम घर पर ही थे कि बारिश शुरू हो गयी. मेरा दिल करता था कि कब बारिश रुके और मैं अपने राजा के पास चली जायूं. मेरी चूत राजा के लंड को तरस रही थी. तभी मेरा भाई आया और मेरे चूतड़ पर थप्पड़ मारता हुआ बोला”दीदी, आपको राजा भैया अच्छे लगते हैं? मुझे तो बहुत अच्छे लगते हैं. चलो ना उनके घर चलें, बारिश में भीग गये तो क्या है, चलो दीदी, चलें. मैं उनकी नयी वीडियो गेम खेलना चाहता हूँ. तुम किताब पढ़ लेना, चलो दीदी, चलो” मैं तो शायद राजू को कह देती की बारिश रुकने दो लेकिन मेरी चूत कुच्छ और ही कह रही थी. वो चिल्ला रही थे,” नंदिनी, साली यहाँ क्या कर रही जब तेरा चोदु राजा भैया घर पर तेरा इंतज़ार कर रहा है. चल जा कर अपनी चूत को उसके लंड से भर ले, नंदिनी!” खैर हम राजा के घर पहुच गये लेकिन भीग कर. मैने मल मल की कुरती और पाजामा पहना हुआ था जिसके नीचे मेरी चूत और चुचि फड़ फाडा रही थी.

राजा मुझे देखते ही मुस्कुरा पड़ा.”कैसी हैं नंदिनी दीदी?” मैने शर्मा कर नज़रें झुका ली.” बस ठीक हूँ भैया” और क्या कहती कि”राजा भैया आपके लंड की याद में सारी रात तड़पति रही और सुबह होते ही फिर चुदवाने आ गयी?” लेकिन राजा मेरी हालत समझ सकता था. वो जल्दी से बोला” राजू, तुम चलो टीवी पर नयी गेम खेलो. और दीदी, मेरे पास कुच्छ नयी किताबें है आपके लिए. राजू हम दोनो पढ़ने लगे हैं, इस लिए हम को डिस्टर्ब मत करना. ओके?” राजू टीवी वाले कमरे में दौड़ गया. राजा ने मेरा भीगा हुआ बदन देखा और आगे बढ़ कर मुझे कंधों से पकड़ लिया. मेरी भीगी कुरती से मेरी चुचि सॉफ दिख रही थी. राजा ने मेरी चुचि को कस कर दबोच लिया. मैं कामुक सिसकी लेती हुई उसके जिस्म से चिपक गयी,” ओह्ह्ह्ह राजा….तेरे बिन नहीं रहा जाता…..तेरी याद सारी रात सताती रही मुझे….राजा तुझे मेरी याद नहीं आई क्या?”

यह कहानी भी पड़े  Mast Desi Bhabhi Ke Sath Hotel Me Mauz

“राजा को तेरी याद भी आई और तेरी चूत की भी, दीदी? सवेरे से दो बार मूठ मार चुका हूँ, दीदी. सच बतायो नंदिनी, तुझे भी चुदवाने की इच्छा सता रही थी या नहीं? तेरी कड़ी चुचि बता रही है कि तुम भी चुदासि हो लंड की” राजा मेरी कुरती उतारते हुए बोला. मैं उसके शब्द सुन कर बहुत उतेज़ित होने लगी थी. मैने शरमाते हुए राजा को अपने सपने के बारे में बताया जिसमे मुझे बहुत से लंड नज़र आए थे और किस तरह मेरे नंगे जिस्म पर रेंग रहे थे और मेरे होंठों को, मेरी चूत और गांद को चोद रहे थे. राजा सुन कर जोश में आ गया और मेरी चूत को पाजामे के अप्पर से रगड़ने लगा. उसने मेरा नाडा खोल दिया और मुझे मदरजात नंगी कर दिया.

‘ वाह नंदिनी, आज तो अभी अभी शेव की है तुमने अपनी चूत! इसको चखने में मज़ा आए गा. तुम बिस्तर पर चलो मैं अभी आता हूँ. आज तुझे बहुत मज़ा देने वाला हूँ. तेरा रात वाला सपना सच करने वाला हूँ.” राजा दूसरे कमरे में जा कर किसी को फोन करने लगा.” हां यार आधे घंटे में आ जाना बेह्न्चोद, मस्त माल है….ओह बेह्न्चोद तुझे अपना जीजा बनाने का इरादा है, मदेर्चोद, जल्दी कर.

थोड़ी देर में वो फोन रख कर आया और उसके हाथ में दो ग्लास थे जिनमे कोक था.” राजा, ये क्या है? मुझे कॉक नहीं पीना है. इतनी सुभह मैं कोक नहीं पीती.” वो हंस कर बोला,” राजा नहीं, नंदिनी दीदी, राजा भैया कह कर पुकारो मुझे. तुमने ही तो कहा था कि सब के सामने एक दूसरे को भाई और बेहन बोलेंगे. और ये कोक जादू का कोक है, अगर यकीन नहीं है तो पी कर देख लेना. इसको पी कर तेरी कॉक की भूख जागृत हो जाएगी. अब बोलो, तुझे कॉक चाहिए या नहीं?” उसने ज़बरदस्ती मेरे मूह से ग्लास लगा कर मुझे दो घूँट पीला दिए. ग्लास से गंदी से स्मेल आई और कड़वा टेस्ट. जैसे ही कोक मेरे गले से नीचे उत्तरा, मेरे पेट में एक आग सी लगती चली गयी.” भैया इसमे क्या मिलाया है तुमने राजा? इसने तो मुझे जला डाला”

यह कहानी भी पड़े  एक नेट फ़्रेन्ड की मस्त चुदाई- सच्ची कहानी

राजा ने भी कॉक पिया और फिर बोला,”नंदिनी बेहन, इसमे शराब है. शराब के साथ शबाब का मज़ा दोगुना हो जाता है. आज तुम वो मज़ा लोगि जो आज तक नहीं लिया. तुम ग्लास खाली करो और चुप चाप टाँगें खोल कर लेट जाओ और फिर देखो राजा भैया के चमत्कार.” मैने ग्लास ख़त्म किया और जैसे राजा बोला, लेट गयी. शराब का नशा मेरे दिमाग़ पर चढ़ा और उसकी आग सीधी मेरी चूत के होल में लगी. राजा भैया ने मुझे खींच कर बिस्तर के कोने पर लिटा दिया जिस से मेरे चूतड़ पलंग के किनारे पर पहुँच गये. राजा मेरी जाँघो के बीच आ गया और झुक कर मेरी चूत चाटने लगा,” आह भैया, चातो मेरी चूत को, साली ये तो पहले ही पानी पानी हो रही है तेरे लंड के लिए” मैं सिसकारी लेती हुई बोली.

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

error: Content is protected !!