गर्लफ्रेंड की बहन ने मुझसे चूत मरवाई

मैंने कहा नहीं ऐसा नहीं हो सकता | तो उसने अपने टॉप को उतार कर फेंक दिया उसने काले रंग की ब्रा पहन रखी थी | उसको देखकर मेरा संतुलन खोने लगा था | उसने मुझसे कहा की आखिर मुझमे क्या कमी है जो तुम मुझसे प्यार नहीं कर सकते | मैंने कहा की तुम ये क्या कर रही हो ये ठीक नहीं है | वो मेरे पास आ गयी और और मुझको अपनी बाँहों में भर लिया और मुझे चूमने लगी | उसके बूब्स मेरी छाती पर रगड़ रहे थे | अब मैं भी कंट्रोल से बाहर होने लगा था | मैंने भी उसको अपनी बाँहों में भर लिया और उसको किस करने लगा | मैं उसके बूब्स को मसल रहा था और उसको किस कर रहा था | फिर मैंने उसको अपनी गोद में उठा लिया और उसको बेडरूम में ले गया | वहां ले जाकर मैंने उसको बेड पर लिटा दिया और उसकी जींस को निकाल दिया | अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी | मैंने उसकी ब्रा को खोलकर उसके बूब्स को आजाद कर दिया | उसके बूब्स बहुत ही टाइट और मस्त थे | मैं उसकी चूचियों को मसलने लगा | वो गरम होने लगी थी मैंने उसकी पैंटी के भीतर अपना हाँथ डाल दिया और उसकी चूत को सहलाने लगा | मैंने उसकी चूत में अपनी उँगली डाल दी और अन्दर-बाहर करने लगा | वो बहुत ही मादक आवाजे निकाल रही थी | उसकी चूत गीली हो चुकी थी और उसकी पैंटी भीग गयी थी | मैंने उसकी पैंटी निकाल दी और उसकी नाभि को चुमते हुए मैंने उसकी चूत पर अपना मुहँ रख दिया और उसकी चूत के दानो को अपनी जीभ से सहलाने लगा | वो मचल उठी वो मेरे सिर को अपनी चूत पर दबा रही थी और मैं उसकी चूत को चाटे जा रहा था | फिर उसने मुझे लिटा दिया और मेरे कपडे निकाल दिये और मेरे लंड को मेरी अंडरवियर से निकाल कर चूसने लगी | मुझे ऐसा लगा रहा था जैसे मैं जन्नत में पहुँच गया हूँ |

यह कहानी भी पड़े  भाभी की चूत की मलाई

वो मेरे लंड को ऐसे चुसे जा रही थी जैसे वो लोलीपॉप को चूस रही हो | मुझे जोश आ गया था मैं उसके मुहँ को धीरे-धीरे चोदने लगा | मैंने उसके मुहँ को लगभग 20 मिनट तक चोदा उसके बाद मैं उसके मुहँ में ही झड गया | उसका पूरा मुहँ मेरे वीर्य से भर गया | वो मेरा सारा माल गटक गयी फिर उसने मेरे लंड को चाट-चाट कर साफ़ कर दिया | उसने मेरे लंड को चूस कर फिर खड़ा किया और अपनी चूत को छोड़ने को कहा मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और रगड़ने लगा | उसने कहा अनिल अब मुझे मत तडपाओ डाल भी दो अपना लंड मेरी चूत में मुझ से रहा नहीं जा रहा | मैंने एक जोर का झटका लगाया और अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया | वो चीख पड़ी उसने कहा की आराम से करो मुझे दर्द हो रहा था | पर मैंने उसकी एक नहीं सुनी और मैं जोर-जोर से उसकी चूत को चोदने लगा | मैं उसकी चूत को चोदे जा रहा था और उसकी मुहँ से अह्ह्ह ओह्ह्ह येस्स चोदो मुझे और चोदो अह्ह्ह फाड़ दो मेरी चूत को अह्ह्ह ओह्ह आह्ह्ह की मादक आवाजे निकल रही थी | 15 मिनट की चुदाई के बाद उसका शरीर अकड़ने लगा मैं समझ गया की वो झड़ने वाली है मैंने धक्के और तेज कर दिए और वो झड गयी | पर मैं उसको चोदता रहा और थोड़ी देर बाद मैं भी झड़ने वाला था | मैंने अपना लंड मिकाल कर उसके मुहँ पर झड गया | उसने मेरा सारा माल पी लिया और मेरा लंड चूस कर साफ़ कर दिया | वो बहुत खुश थी मैंने उससे कहा की मैंने तुम्हारी इच्छा पूरी तो कर दी पर ये बात कभी भी रिया को नहीं पता चलनी चाहिए | उसके बाद मैं वहां से चला आया उस दिन के बाद मैंने उसकी कई बार चुदाई की और उसकी गांड भी मारी |

यह कहानी भी पड़े  पड़ोसन लड़की की चुदाई

Pages: 1 2

error: Content is protected !!