मॉल में मिली लड़की की चूत और गांड चुदाई

मैं बोला- जान तुम्हारी गांड बहुत मस्त है … मुझे तुम्हारी गांड मारनी है.

पहले तो उसने नानुकुर की. पर जब मैंने कहा कि यही वो चीज थी, जिसकी वजह से मैं तुम पर मर मिटा था.

ये सुनकर वो हंस दी और गांड मराने को राज़ी हो गयी. मैंने उसकी गांड के छेद पर बहुत सारी क्रीम लगा दी और लंड को उसकी गांड के मुँह पर रख दिया.

जैसे ही लंड का सुपारा गांड के अन्दर गया, निधि की चीख निकल गयी.

मुझे मालूम था कि दर्द तो होना ही था. इसलिए मैं रुका नहीं और धक्के लगाने चालू कर दिए. कुछ देर बाद निधि भी खुशी से अपनी गांड मरवाने लगी.

मैं आपको बता नहीं सकता दोस्तों कि मुझे उसकी चूत से ज़्यादा उसकी गांड मारने में मज़ा आया. क्योंकि उसकी गांड बिल्कुल फ़ुटबाल की तरह गोल थी और गोरी गोरी मस्त थी.

मुझे निधि की गांड बजाने में बहुत मज़ा आ रहा था और निधि को भी लंड गांड में लेने में मजा आने लगा था.

निधि खूब ज़ोर ज़ोर से मस्ती में चिल्ला रही थी- आआह राज़ मेरी जान और चोदो … फाड़ दो गांड … टुकड़े टुकड़े कर दो.

मैं भी उसकी गांड अपने लंड से बजाए जा रहा था. कोई 35 मिनट लगातार उसकी गांड चोदने के बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया. उस रात हम दोनों ने 3 बार सेक्स किया. इसमें मैंने 1 बार निधि की गांड मारी और 2 बार उसकी चूत का भोसड़ा बनाया.

सुबह वो अपने घर के लिए निकलने को रेडी हो गई. मैंने उसके लिए ओला बुला दी थी. जाने से पहले मैंने उसको एक पेन किलर गोली खिला दी.

यह कहानी भी पड़े  बहन के साथ मस्ती ओर चुदाई

दोस्तो, ये मेरी पहली सेक्स कहानी थी. इसलिए आप प्लीज़ ज़रूर बताना कि सेक्स कहानी कैसी लगी.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!