गढ़वालन की चुदाई

दी ओर पागलों की तरह मुझे किस करने लगी मेरे बालों को खेच ने लगी ओर मेरे कानो को नोचने लगी मेने उसे ज़मीन पे खड़ा किया ओर उसकी गाउन उठा के उसकी पेंटी फाड़ दी उसकी चूत एक दम चिकनी एक बाल भी नही था , मेने उसे खूब चटा ओर उसकी चुचियो से चाटता हुआ नीचे की तरफ बढ़ा ओर

सीधा पहुँच गया उसकी चूत पे ओर जेसे ही मेने उसकी चूत पे फिगर रखी तो उसने अपना पानी छोड़ दिया ओर मेरा पूरा हाथ भीग गया , मेने उसकी चूत पे अपना मूह रख दिया ओर उसकी सिसकारी निकल गयी ओह्ह्ह मययी विशु ओर फिर वो अपनी गदवाली भाषा मे कुछ बोलने लगी मुझे समझ नही आया कि

उसका मतलब क्या हे बस यही सुनाई दिया उतररू उतररूव फिर मेने कहा कि हिन्दी मे बोलो तो उसने कहा कि अब मत कुछ बोलो बस चोद दो इससे ज़यादा मुझे अब नही बर्दाश कर पाउन्गि ओर मेने उसे उसके बेड पे लिटा दिया ओर उसकी गांद के नीचे एक पिल्लो रखा ओर उसकी चूत मे अपना लॅंड डालने ही

वाला था कि उसने रोक दिया ओर मुझे अपने बिस्तर के नीचे से कॉंडम निकाल के दिया मेने तुरंत कॉंडम चड़ाया ओर फिर से उसकी चूत मे अपना लंड डाल दिया ओर वो सिसकारियाँ भरने लगी आहह विशु मज़ा एयेए गया मेरी जान बहुत मस्त लंड हे तुम्हारा अब चोदो ओर फाड़ दो इस चूत को तुमने मुझे

बहुत दिनो से तडपा रखा हे ओर मेने धक्के मारने चालू किए ओर फिर धीरे धीरे स्पीड बढ़ा दी वो बोलती रही आहह मेरी जान ओर उसके बाद फिर से उसने गदवाली भाषा सुरू कर दी ओर मेने उसे फिर से मना किया तो वो हिन्दी मे

यह कहानी भी पड़े  वो एक परी जैसी लग रही थी

बोलने लग गयी विशुहुबहुत मज़ा आ रहा हे क्या मस्त लंड हे तुम्हारा आह ओर मे भी कह रहा था डार्लिंग तेरी चूत भी बहुत मस्त हे ऐसा लग रहा हे जैसे कोई परी चोद रहा हूँ आज मेरा सपना पूरा कर दिया तेरे नाम की”यह कहानी आप हिंदी सेक्सी कहानियाँ पर पढ़ रहे हैं”

मूठ मार मार के मेरा हाथ ओर लंड दोनो दुख गये आज जाके तेरी चूत मिली हे मेरी राअनीईइ तेरी चूत को चोद चोद के लाल कर दूँगा सूजा दूँगा साअली क्कू बहुत मज़ा हहे हान्ं मेरे राजा चूद ज्ज्ज्जििइत्त्तता चोद्द्ना हे आअहह ओर फिर उसने मुझे टाइट पकड़ लिया ओर ओर मेरी पीठ पे ओपेर से

लेके नीचे तक खरॉच दिया ओर वो झाड़ गयी मगर अभी मेरा शांत नही हो पाया था मगर उसने मुझे रोक दिया ओर कहा की प्ल्ज़ अब दर्द हो रहा हे थोड़ी देर बाद कर लेना मेने उसकी बात मान ली ओर मे रुक गया वो उठी ओर पानी पी कर आई ओर मेरे लिए भी लाई मेने पानी पिया तो थोड़ी देर बाद

मेरा लंड बैठ गया वो अपने कपड़ो की हालत देखने लगी ओर बोली ये क्या कर दिया तुमने मेरे कपड़े फाड़ दिए मेने कहा बड़ी जल्दी पता चल गया जब फाड़ रहा था तब तो कह रही थी कि सब कुछ फाड़ दो तो वो हस्ने लगी ओर कहने लगी कि तब तो होश ही नही था ओर कहा कि वैसे मुझे बहुत मज़ा

आया तुम्हारे साथ तो मेने पूछा कि तुम्हे अपने पति के साथ मज़ा नही आता क्या तो उसने कहा कि नही ऐसा नही हे मेरे पति भी मुझे बहुत मज़ा देते हे मगर बस अपने को बहुत रोकने की कोशिश की मगर रोक नही पाई ओर ये सब हो गया उसके बाद वो मेरी तरफ पीठ कर के नीचे झुक

यह कहानी भी पड़े  सेक्सी नेहा मेडम क़ी चुदाई रात भर

के अपने कपड़े उठा ने लगी मुझे पीछे से उसकी गांद ओर उसकी चूत दिखाई दे रही थी मेरा लंड फिर खड़ा हो गया ओर मेने उसे पीछे से फिर पकड़ लिया ओर तो वो बोलने लगी कि नही अभी नही मगर मुझे कंट्रोल नही हो रहा था ओर मेने पीछे से ही लंड उसकी चूत मे डाल दिया ओर उसकी

चुदाई करने लगा ओर तेज़ तेज़ झटके मारने लगा पहले तो वो मना करती रही फिर वो भी पूरा साथ दे ने लगी उसकी चुचिया मेरे झटको की वजह से बहुत तेज़ तेज़ हिल रही थी तो मेने आगे हाथ डाल के उसकी चुचियों को पकड़ लिया ओर चोद्ने लगा वो फिर से सिसकारी भरने लगी ओर कहने लगी ऊओह

विशु तुमने मेरी चूत का सचमुच भुर्ता बना दिया मज़्ज़्ज़्ज़ाअ गया तेरी चुदाई से मुझे हर रोज़ चोदेगा तो मे हर रोज़ चुद्ने के लिए तैयार हूँ चोद मुझे ओर ज़ोर से ओर इतना कहते कहते हम दोनो एक साथ झाड़ गये ओर बिस्तर पे एक दूसरे के ऊपर लेट गये थोड़ी देर एक दूसरे के ऊपर लेटने के

बाद मे उठा तो उसने मेरा कॉंडम उतारा ओर पेपेर मे रख के अपने डस्टबिन मे फेक दिया ओर फिर मे वापिस अपने काम पे गया मगर मेरा मन नही लगा ओर दोस्तो मे उसे हर रोज़ चोद्ता मगर कहते हे ना कि किस्मेत हर रोज़ एक जैसे नही होती”यह कहानी आप हिंदी सेक्सी कहानियाँ पर पढ़ रहे हैं”

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!