गाँव मे चुदाई

हेलो दोस्तो मै मीना एक बार फिर अपनी नयी रियल स्टोरी लेकर आई हू | अन्तर्वासना के पाठकों को मेरा प्यार और धन्यवाद ! आप लोगों को मेरी पिछली कहानी बहुत पसंद आई। जिन लोगों ने अब तक मेरी कहानी नहीं पढ़ी मैं उनसे आग्रह करती हूँ कि मेरी पहले की कहानी जीजा और साली का हनीमून जरूर पढ़ें। मैं अपनी कहानी अब आगे बढ़ाती हूँ। जब से जीजू से चुदि थी तब से मेरी चुत मे हमेशा ही खुजली सी होने लगी | मेरा मन हमेशा ही लंड लेने का करने लगी| अब जीजू से भी हर वकत तो नही चुद्वा सकती थी इसी बीच मुझे एक बार जब मै अपने चाचा का गाँव गयी तो वाहा पर मेरी कजन देवकी बहुत ही खुश हुवी| और होती भी क्यो नही क्यूकी हम बहुत सालो बाद मिले थे |देवकी मेरी ही उमर की मतलब्18 साल की है जो मुझसे 4माह ही छोटी है | उसकी फिगर साइज़ 34-30-34 होगी| हम दोनो उनके रूम मे बैठ के बात कर रहे थे तभी उनका मोबाइल मे किसी के कॉल आया उसने रिसीव नही की ऐसे दो –तीन बार कॉल आया उसने नही उठाया फिर मैने कहा कौन है कॉल क्यू नही ले रही तो

देवकी-कोई नही है बस फ़्रेंड है

मै-कोई बात नही कॉल ले ले

देवकी कॉल पर – सॉरी यार आज नही मिल सकती मेरी दी मीना आई हुवी है,और उसने कॉल कट कर दी ,तभी मैने पूछा कौन था तो उसने कहा मेरी सहेली थी ,कही जा रही थी क्या आज तो उसने कहा नही दी बस ऐसे ही ,मुझे पक्का यकीन थी की वो मुझसे झूठ बोल रही थी की फ़ोन पर उसकी सहेली नही बल्कि एक लड़का था तो मैने कहा उसे वापस फ़ोन कर और बोल की हम आ रहे है चल ना मुझे अपना गाँव भी घुमा देना और अपनी सहेली से भी मिलवा देना | इस पर वो ना नुकुर करने लगी फिर मेरी जिद्द करने पर उसने बताई की वो फ़ोन उसका बाय्फ्रेंड का था | तो क्या हुवा चल उसी से मिलके आ जाना और मुझे अपना गाँव घुमा देना इस पर वो राज़ी हो गयी और कहा की दी प्लीज़ घर वालो को कुछ मत बताना ,मैने भी हा कर दी और हम लोग तैयार होने लगे | 4 बजे मैं और देवकी तैयार हो गईं, देवकी ने तो वाइट शॉट्स और वाइट टॉप पहनी थी जिससे उसके बैक से ब्रा की स्ट्रिप दिख रही थी और उसकी टॉप पीछे से स्ट्रिप वाली थी। उसके ऊपर एक लॉन्ग जैकेट टाइप डाली हुई थी एकदम कयामत लग रही थी। मैंने तो एक मिड्डी जो वन पीस होती है घुटने तक होती है वो, ब्लैक कलर की डाली हुई थी और रेड लिपस्टिक, हल्का काजल, बाल खुले हुए, मैं भी कयामत से कम नहीं लग रही थी।

यह कहानी भी पड़े  मेरे दोस्त अमन की माँ और दीदी साथ सेक्स

देवकी- क्या बात है दी, ऐसा लग रहा है जैसे मै नही आप अपने बाय्फ्रेंड से मिलने जा रही हो

मैं- अच्छा, तू खुद इतनी हॉट दीपक के लिए बनकर जा रही है तो मुझे तो डर है कहीं तुझे खा न जाए वो।

मेरी बात पर देवकी. मेरी तरफ देख कर मुस्कराने लगी। देवकी की बाय्फ्रेंड का नाम दीपक है

दीपक की कॉल आई कि वो गाँव के बाहर खड़े हैं, हम आ जायें।

देवकी घर मे बोले दी की हम उनकी सहेली के घर जा रही है| हम जब दीपक के पास पहुचे तो वाहा दीपक और उनका दोस्त दो अलग-अलग बाइक मे खड़े थे| दीपक को जब पहली बार देख तो मेरा दिल धक से करने लगा वो तो बहुत ही हेंड्सॅम था | मैने देवकी की कन मे धीरे से कहा की राइट् चोइस. फिर देवकी दीपक की बाइक मे और मै दीपक का दोस्त राज की बाइक पे बैठ कर जंगल की वोर चले गये | वाहा देवकी और दीपक दोनो टहलते टहलते काफ़ी दूर चले गये इधर मै और राज के बीच समानय बातचीत करने लगे |वो मेरी ड्रेस और मेरी खूबसूरती की तारिफ़ करने लगा |

राज-तुम इस ड्रेस मे बहुत ही सेक्शी और हॉट लग रही हो

मै-शरमाते हुवे थॅंक्स

राज- क्या तुम्हारा बाय्फ्रेंड है ?

मै- नही ,और तुमाहरी गर्लफ्रेंड है क्या?

राज- नही , मुझे तो आप जैसी ही गर्लफ्रेंड चाहिए जो आज तक नही मिली |

उनकी बातो से मै शरमा गयी फिर बातो-बातो मे हमने एकदुसरे का मोबाइल नंबर ले लिया | और देवकी-दीपक जब आए तो सबने मिलकर कल मोविए जाने का प्रोग्राम तय कर लिया और सब वापस आ गये | अगले दिन हम सुबह सुबह ही तैयार होने लगे तो चाचा ने पूछा की कही जा रही हो क्या? तो मैने कहा की हम मोविए देखने जा रहे तो चाचा ने हमे पैसे दिए और जल्दी घर आ जाने को कहा| फिर मै और देवकी दोनो ही घर से निकल गये दीपक हमारा वेट कर रहा था पर राज कही नज़र नही आ रहा था ,जिससे मुझे मायूसी सी लगी | जब हम मूवी हॉल में पहुंचे, तो वाहा पर राज चार टिकट बुक कर रखा था । सीट दो कोनों में ली गयी थी, दो सीट लास्ट रॉ के एक साइड, दूसरी दूसरे साइड।

यह कहानी भी पड़े  मामी का दूध पिया 1

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!