अपने दोस्त की सेक्सी बहन की रसीली चूत फाड़ी

मैंने ब्रा के ऊपर से ही उसकी चूंचियां दबाने लग गया। मैंने उसकी ब्रा सहित चूंचियो को किस कर कर के दबा रहा था। मैंने पीछे से सुहानी की ब्रा का हुक खोला। उसकी ब्रा खुल गई। मैंने उसकी ब्रा को निकाल कर रख दिया। उसकी सॉलिड बूब्स को मैं देखता ही रह गया। गोल गोल मुसम्मी की तरह उसकी चूंचिया देख कर मेरा लंड बहुत ही बेचैन हो रहा था। सुहानी की गोरी गोरी बूब्स पर भूरा भूरा निप्पल मुझे आकर्षित कर रहे थे। मैंने सुहानी की बूब्स से अपना मुँह चिपकाकर। उसकी निप्पल को अपने मुँह में भर लिया। उसकी निप्पल को मैं चूंसने लगा। उसकी चूंचियो को मैं पकडे लटका हुआ चूस रहा था।

सुहानी गरम हो रही थी। उसकी गरम गरम साँसे निकल रही थी। उसकी चूंचियो को पीते पीते मै बीच बीच में उसकी निप्पलों को काट रहा था। सुहानी सी.सी.सी.ई .ई.. .ई. .की जोशीली आवाज निकाल रही थी। मुझे भी उसकी आवाज सुनकर बहुत जोश आ रहा था। मैंने उसकी निप्पलों को बार बार काटते हुएउसकी चूंचियों का भरता लगा रहा था। सुहानी भी मेरा बाल पकड़ कर अपनी चूंचियां चुसवा रही थी। सुहानी की चूंची का रस दबा दबा के निचोड के पी रहा था। मैंने सुहानी की जीन्स की बटन खोलकर उसकी निकाल दी। जीन्स को निकालते ही मेरा लंड और खड़ा हो गया। उसे पैंटी में देखकर मै खुद कंट्रोल ही नहीं कर पा रहा था। मैं जैसा सोचता था ये तो उससे कही ज्यादा मस्त लग रही थी। मैंने उसकी चूत पर हाथ लगाई। सुहानी को मैंने सोफे पर बैठाया। सुहानी शरमा रही थी। मैंने उसका चेहरा ऊपर कर लिया। मैंने सुहानी की पैंटी को निकाल कर सूंघने लगा। उसकी पैंती से बड़ी मादक खुशबू आ रही थी। मैंने सुहानी की टांगोंको फैला कर उसकी चूत के दर्शन किया। उसकी चूत साफ़ साफ़ चिकनी लग रही थी। सुहानी ने जल्द ही अपनी चूत के बालों को बनाया था। उसकी चूत बहुत ही साफ़ और गोरी गोरी दिख रही थी। मैंने उसकी चूत को छुआ। उसकी चूत बहुत ही लाजबाब थी। मैंने कभी लड़कियों की चूत नहीं चाटी थी। लेकिन उस दिन मैंने उसकी चूत पर अपना मुँह लगा दिया। उसकी चूत को मैंने चाटना शुरू किया।

यह कहानी भी पड़े  मौसी की गांड मारी कम्बल के अन्दर

सुहानी मेरा सर पकड़े अपनी चूत से सटाये हुए थी। सुहानी बार बार मेरा सर अपनी चूत में दबा रही थी। मै उसकी छूट को चाट रहा था। मैंने सुहानी की चूत की दोनों पंखुडियो को बारी बारी से चूस चूस कर चाट रहा था। सुहानी की चूत जैसे रबड़ की लग रही थी। उसकी चूत को चाटकर मैंने उसकी चूत को लाल लाल कर दिया। मैंने सुहानी की चूत में अपनी जीभ डाली। उसकी चूत में लगा माल मैंने साफ़ कर दिया। मैंने अपनी दानेदार जीभ को उसकी चूत में गोल लम्बी करके डाल रहा था। सुहानी की चूत का दाना अपने दांतों से काट रहा था। चूत का दाना काटते ही वो सिकुड़ जाती। उसकी मुँह से “अई…अई.अई.अहह्ह्ह्हह.सी सी सी सी.हा हा हा..” की आवांजो के साथ अपनी चूत चटवा रही थी। उसे अपनी छूट चटाने में बहुत ही मजा आ रहा था। मजे ले ले करके अपनी चूत चटवा रही थी। मैं कुत्तो की तरह उसकी चूत चाट रहा था। मेरी जीभ सुहानी की चूत को अंदर से खुजला रही थी। जीभ खुरदुरापन डॉटेड कंडोम की तरह सुहानी की चूत में धमाका कर रही थी। मैंने अपनी जीभ सुहानी की चूत में डाल डाल कर सुहानी को बहुत गरम कर दिया। मैंने अपना पैंट निकाला।

कच्छे में मेरा लंड तना हुआ खड़ा हुआ था। मैंने कच्छा निकाला और अपना लंड सुहानी के हाथ में थमा दिया। सुहानी मेरे लंड को हिला हिला कर खेलने लगी। सुहानी- उफ्फ्फ माँ!! कितना मोटा लंड है। कितना गरम हो गया है। मैंने सुहानी को अपना लंड चूसने को कहा। सुहानी मेरा लंड अपनी मुँह में भरकर चूसने लगी। मेरा लंड मुठ मार मार कर चूस रही थी। मेरा लंड अपनी मुँह में अंदर तक ले रही थी। मैं अपना लंड गले से नीचे तक डाल रहा था। कुछ देर तक लंड चुसवाने के बाद अपना लंड सुहानी की मुँह से निकाल लिया। मैंने सुहानी को नीचे लिटाकर उसकी टांगो को फैला दिया। सुहानी दोनों टांगो को खोले लेटी थी। मैंने अपनी उंगली डालकर सुहानी की चूत को गरम कर रहा था। सुहानी की चूत से पानी निकल रहा था। मैंने सुहानी की चूत से निकलता पानी मैंने चाट लिया। मैंने अपना लंड सुहानी की चूत पर रगड रहा था।

यह कहानी भी पड़े  क्लास की हॉट लड़की की चुदाई

सुहानी को तड़पा रहा था। मैंने सुहानी की चूत की छेद पर अपना लंड लगाया। लंड को चूत के छेद में लगाकर धक्का मारा। मेरे लगभग 2 इंच लंड सुहानी की चूत में घुस गया। सुहानी जोर से चीखने लगी।”..अई..अई..अई…अई..इसस्स्स्स्स्स्स्स्..उहह्ह्ह्..ओह्ह्ह्हह…ह.ह..ह..” की आवाज निकल गई। सुहानी अपना सर इधर उधर दर्द से झिटक रही थी। मैंने अपना लंड उसकी चूत में डाले ही रहा। उसकी चूंचियो को दबाते हुए किस करने लगा।

Pages: 1 2 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!