दोस्त की बहन की कामुकता शांत की

10 मीं चूसाई के बाद वो एकदम शांत हो गई थी मुझे लगा उसका निकल गया होगा. फिर मैं उठा और अपने सारे कपड़े उतार दिए और उसके बगल मे लेट गया. वो उठी और सीधे मेरे लंड को हाथो मे पकड़ कर मूह मे लेने लगी. फिर मैने उसे बोला पहले पैरो से स्टार्ट करो और पूरा जीभ से गिल्ला करके चाटो फिर लंड चूसना. वो मान गई और अपने जीभ से पैरो को गीला करते हुए उप्पर बढ़ने लगी. मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था. फिर वो मेरे जाँघो तक पंहुच गई और उसे चाटने लगी धीरे धीरे. फिर वो लंड पे आई और उसने पहले टोपे को मूह मे लेके चूसना शुरू किया. उसने हाथो से लंड पकड़ा हुआ था. मैने वो हाथ हटाए और बोला अब चूसो और जितना अंदर जा सके ले कर चूसा करो. वो वैसे ही करने लगी. पूरा लंड अपने मूह मे घुसाना चाह रही थी लेकिन उसके गले तक पंहुच के रुक जा रहा था. लंड हुसने मे वो एक्सपीरियेन्स लगी. मस्त चूस रही थी पूरा गीला कर कर के. लंड अंदर मूह मे लेके उसपर जीभ भी चला रही थी. अब मैं उठा और बेड से नीचे आ गया उसके दोनो पैरो को अपने कंधे पे रख कर लंड उसकी बुर मे सेट करके एक झटका लगाया लंड अंदर चला गया एक ही बार मे वो चिल्ला उठी.

उसे पेन हो रहा था लेकिन बुर पूरी तरह से चिकना हो गया तो आराम से जा रहा था. मैं उसी पोज़िशन मे उसे चोदने लगा पूरा लंड अंदर डाल के. वो बोलते रही प्लीज़ पैर नीचे कर दो पेन हो रहा है मैने उसकी बात नही सुनी. कुछ देर करने के बाद मैं भी बेड पे आ गया और फिर लंड अंदर बाहर. वो पागलो की तरह आअह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह कर रही थी अब उसका भी पेन ख़त्म हो गया था. फिर थोड़ी देर करने के बाद मैं लेट गया बेड पे और उसे उपर बैठा लिया. और उसे बोला उपर नीचे करने. वो ट्राइ कर रही थी लेकिन कर नही पा रही थी. फिर मैने दोनो हाथो से उसके गॅंड पे रख के उसे उठाने लगा और अंदर बाहर करने लगा. वो बोलने लगी पूरा अंदर जा रहा है दर्द भी हो रहा है. मैने पूछा मज़ा आ रहा है बोली बहुत लेकिन थोड़ा थोड़ा दर्द करता है अंदर जाने पर. अब मेरा निकालने वाला था. तो मैने उससे पूछ वो बोलने लगी प्लीज़ बाहर निकालना अब मेडिसिन नही लेनी बहुत पेन करता है. फिर मैने उसे लिटा के उसके उप्पर आ गया और ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगा और निकलते समय उसके चेहरे पे आ के लंड हिलाने लगा. उसने मूह बंद कर लिया वो समझ गयी थी की मैं मूह मे निकालने वाला हूँ.

यह कहानी भी पड़े  बहन को चोदा उसके शादी के बाद

मैने बोला भी मूह खोलने लेकिन उसने नही खोला और मैने अपना सारा स्पर्म उसके चेहरे पे निकाल दिया जो उसके बालो पे भी लग गया. और थोड़ी देर हम वैसे ही लेटे रहे. वो बोली उसका बीएफ इतनी देर कभी नही चोदा था और इतना मज़ा भी कभी नही आया था उसे. वो पूरी तरह सॅटिस्फाइड लग रही थी. फिर वो उठ के बाथरूम जाने लगी बोली जोरो से सूसू आई है मैने बोला मैं चलूँगा वो मना करने लगी. फिर मैने बोला की तुमने ही बोला था जो आप बोलोंगे वो करेंगे. वो मान गई और हम बाथरूम मे आए. वो सूसू करने फर्श पे बैठ गई. लेकिन उससे हो नही रहा था. बोलने लगी आप जाओ तो होगा,,,मैने बोला ट्राइ तो करो. फिर बुर से थोड़ा पेशाब निकला. फिर ज़ोर से निकलने लगा. मैं उसके पेशाब करते हुए उसके बुर को टच कर रहा था. कभी उपर नीचे कभी उंगली अंदर कभी जहासे पेशाब निकलता है वाहा.

उसके पेशाब होने के बाद वो उठने लगी मैने बोला बैठी रहो मैं भी कर लेता हूँ. मैने पूछा मूह मे करू तुम्हारी वो बोलने लगी नही प्लीज़. बहुत बोलने पे बोली मूह मे नही लेकिन बॉडी पे कर लो. मुझे अपना फीडबॅक देने के लिए कृपया इमेल \”[email protected]\” ज़रूर करे, ताकि कहानियों का ये दौर देसीकाहानी पर आपके लिए यूँ ही चलता रहे. थोड़ी देर खड़े ट्राइ करने के बाद मेरा भी पेशाब निकलना शुरू हुआ और सीधे उसकी बॉडी पे जाने लगा. कभी उसके बूब्स पेट फिर लंड उपर करके उसके चेहरे पे भी कर लिया. करने के बाद बोली आप बहुत गंदे हैं. फिर हमने वही पे नहा के अंदर आ गये. कपड़े पहन के रेडी हुए और एक बार फिर स्मूच किया. रास्ते मे उसने बताया की उसे कभी सेक्स करने मे इतना मज़ा नही आया था. मैने उसे एक आयिपिल गोली दे दी. बोला इससे पेन नही होगा. कोई रिस्क नही. वो खुश हो गई.

यह कहानी भी पड़े  भाई ये क्या कर रहा है

Pages: 1 2

error: Content is protected !!