असली चुदाई का मजा शादी से पहले ही

मेरा नाम अमित है और मैं बहराइच के रहने वाला हूं, फिलहाल पढ़ाई की वजह से मैं लखनऊ में रहता हूं।
पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए मैं जिगोलो का काम भी करता हूं; इससे थोड़ी बहुत आमदनी भी हो जाती है और खर्चा भी निकल जाता है। जिगोलो के काम के चलते मेरी बहुत सारे लोगों से जान पहचान भी हो गई है, जिनमें अधिकतर आंटियां भाभियां और नई उम्र की लड़कियां भी हैं।

जैसा कि सभी जानते हैं जिगोलो के काम में अपने आप को मेंटेन रखना बहुत जरूरी होता है हमारा शरीर ही हम लोगों को काम दिलाता है और नए-नए क्लाइंट दिलाता है।

लखनऊ में मेरे बहुत सारे क्लाइंट थे ज्यादातर हमारी बुकिंग नाम बदल कर होती है इस तरह महीने में 10 से 12 दिन काम के निकल जाते हैं और अच्छी खासी आमदनी भी हो जाती है।

एक दिन मैं बैठा हुआ था, तभी मेरे पास एक कॉल आई कॉल पिक करते ही, उधर से एक बहुत मीठी सुरीली सी आवाज सुनाई पड़ी।
मैंने उससे पूछा- आप कौन बोल रही हैं?
तो उसने बोला- मेरा नाम नैना है और मैं बहराइच से बोल रही हूं।

उसने बताया कि उसे मेरा नंबर उसकी एक फ्रेंड से मिला है, जो लखनऊ में रहती है और मेरी क्लाइंट है।
मैंने उसे काम पूछा, तो उसने बताया कि उसकी शादी होने वाली है और शादी से पहले वह अपनी सील खुलवाना चाहती है। उसने मेरी तारीफ अपनी सहेली से काफी ज्यादा सुन रखी थी और वह चाहती है कि उसकी सील मैं खोलूं।
मुझे सबसे ज्यादा खुशी इस बात की हुई कि वह मेरे से ही शहर की रहने वाली थी और इसी बहाने मेरा एक चक्कर घर का भी लग जाता और घर वालों से भी मुलाकात हो जाती और अपने खर्चे भी निकल आते।

यह कहानी भी पड़े  Sheela ki jawani Chut Chudai

मैंने उसे हां बोल दी और आने की डेट पूछी, तो उसने बताया कि उसके घर वाले शादी की शॉपिंग के सिलसिले में बाहर जाने वाले हैं तो वह एक दिन के लिए अकेली रहेगी. मैंने उससे उसका एड्रेस पूछा और बुकिंग कंफर्म कर दी।
वेरिफिकेशन के लिए मैंने उससे उसकी ID की फोटो और कुछ डाक्यूमेंट्स मांग लिए। उसने एडवांस में मेरे अकाउंट में पैसे डिपाजिट कर दिए।

बताई गई डेट को मैं उसके बताए हुए एड्रेस पर पहुंच गया। मैंने उसे कॉल किया उसने बोला कि बस 2 मिनट में आ रही है।

थोड़ी देर बाद मेरे सामने का दरवाजा खुला करीब 22 साल की खूबसूरत लड़की जिसका फिगर 32 28 34 रहा होगा, मेरे सामने खड़ी थी।
उसे देखते ही अचानक मुझे झटका सा लगा उसकी खूबसूरती को देखकर ऐसा लग रहा था कहीं उसे छूने से उसे कोई दाग न लग जाए। क्या बला की खूबसूरत थी एक बार तो मेरे दिल में भी आया की इससे शादी कर लेता हूं। लेकिन फिर दिमाग में आया कि मैं तो अपना काम करने आया हूं, और अभी मुझे अपने काम पर ध्यान देना है।

उसने मुझे अंदर बुलाया और सोफे पर बैठने को बोला। फिर वह मेरे लिए पानी लेकर आई।

पानी पीने के बाद उसने मुझसे चाय के लिए पूछा तो मैंने मना कर दिया। मैंने उससे उसके बारे में थोड़ी जानकारी ली, यह सब मैंने इसलिए किया ताकि वह थोड़ा नॉर्मल फील करे।
मैंने उससे पूछा कि आखिर तुमने मुझे ही क्यों बुलाया?
तो उसने कहा कि उसकी सहेली ने मेरी काफी तारीफ कर रखी है और वह किसी ऐसे ही आदमी से यह सब करवाना चाहती थी जो काफी अनुभवी हो और थोड़ा करीबी हो।

यह कहानी भी पड़े  पति से बेवफ़ाई की सजा

मैंने भी अब उससे आगे ना पूछने का फैसला किया और उससे बोला कि कब स्टार्ट करना है।
उसने मुझे अपने पीछे आने का इशारा किया और मुझे बेडरूम की तरफ लेकर गई।

अब उसने अपने आप को पूरी तरह मेरे समर्पित कर दिया था और बोला कि मैं उसे वह सारी खुशियां दे दूं जो एक लड़की को पहली बार संभोग करने पर मिलती हैं। उसने बताया कि इसीलिए वह चाहती थी कि वह अपना पहला संभोग किसी ऐसे आदमी के साथ करें जो उसे केवल भोग विलास की वस्तु न समझे बल्कि उसके सुख का भी ध्यान रखें।
उसका होने वाला पति, जैसा कि उसने बताया, बहुत ही घमंडी आदमी था और वह सेक्स की बातों में बस अपनी मर्जी चलाना था, इसीलिए वह चाहती थी कि वह मेरे साथ सब कुछ करे।

मैंने भी ज्यादा पूछना ठीक नहीं समझा क्योंकि मेरा यही काम है। सवाल कम और काम ज्यादा।

मैंने उसे प्यार से चूमना शुरू किया। सेक्स करते समय चुंबन बहुत जरूरी होता है, यह अंदर चल रहे वासना के तूफान को और भड़का देता है।

मैं उसे चूमते चूमते धीरे धीरे उसके कपड़े भी उतारता जा रहा था। थोड़ी देर में वह मेरे सामने ब्रा और पैंटी में खड़ी थी। उसकी आंखें बंद थी, वह भी थोड़ा शर्म महसूस कर रही थी, उसकी शर्म को दूर करने के लिए मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए और केवल अंडरवीयर में रह गया।
मैंने उसे गले लगाया और उसकी गर्दन पर किस करना शुरू किया, धीरे-धीरे वह मेरी बांहों में पिघलती जा रही थी।

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4