मेरी प्यारी भाभी की चूत चुदाई की कहानी

थोड़ी देर उनके मुँह से कामुक आवाजें आने लगीं- इश यस्स आह आह. वो ‘आह ओन्हन्न यस … और ज़ोर से चोदो मुझे … आह!
चुदाई की मस्ती छाने लगी थी. मैं अपने पूरे जोश से उनकी चुदाई करने लगा.

कुछ देर बाद वो अकड़ने लगीं, शायद वो झड़ गई थीं … पर मेरा अभी बाकी था. मैं पूरे जोश से लगा रहा.

थोड़ी देर बाद भाभी भी दुबारा से तैयार हो गईं और मेरा साथ देने लगीं. वो अब पूरे जोश के साथ थीं, उनके मुँह से कामुक आवाजें कमरे के माहौल को और भी मस्त कर रही थीं- अह्ह्ह्ह … इसस्स … इश्स … चोद दे मुझे … और ज़ोर से चोद मेरी चूत का भोसड़ा बना दे … आज जैसी चुदाई मिली इस चूत को … मानो ऐसा लग रहा था जैसे पहले कभी चुदाई नहीं हुई हो.

मैं अपने जोश में लगा था. बीस मिनट की चुदाई में वो दूसरी बार झड़ने वाली थीं. अभी मेरा भी होने वाला था. मैंने कहा- रुको यार … मेरा भी होने वाला है … जल्दी बोलो … कहां निकालूं?
भाभी बोलीं- अन्दर ही निकाल दो … मुझे तुम्हारा वीर्य अन्दर महसूस करना है.
मैंने भाभी की चूत के अन्दर ही रस निकाल दिया.

वो मुझसे लता की तरह लिपट गईं. थोड़ी देर हम ऐसे ही पड़े रहे. कोई दस मिनट बाद हम दोनों अलग हो गए.

भाभी बोलीं- आज से मैं तेरी गुलाम हो गई हूँ, जब भी तेरा चोदने का मन हो, मुझे चोद लेना.
वो मुझे किस करने लगीं. मैंने भी उनको चूमा.

यह कहानी भी पड़े  कुंवारी लौंडिया की देसी सेक्स स्टोरी

फिर हमने अपने अपने कपड़े पहने और बाहर हॉल में आ गए. कुछ देर हम इधर उधर की बातें करने लगे. थोड़ी देर में मेरा लंड फिर से चोदने को तैयार था.
मैंने रूपा भाभी से बोला- मैं आपको एक बार और चोदना चाहता हूँ.
रूपा भाभी ने मना कर दिया और बोलीं- पंकज … अब घर वालों के आने का टाइम हो गया है … तो फिर कभी करेंगे.

रूपा भाभी ने मुझे जब यह बोला, तो मैंने भी मोबाइल में समय देखा. हमको काफी देर हो चुकी थी. फिर मैं वहां से उनको एक हग और किस करके घर चला आया.

उसके बाद मैंने बहुत बार मेरी प्यारी भाभी की चूत चुदाई की. उसके बाद भाभी ने अपनी पड़ोसन भाभी को मेरे बारे में बताया, तो वो भी मुझसे चुदने को बोलने लगी. फिर भाभी ने मुझे बताया, तो मैंने मना कर दिया.

भाभी के जोर देने पर मैंने उनसे मिलने के लिए हां बोल दिया. उस दिन मैंने दोनों को एक साथ चोदा.

फिर भाभी की पड़ोसन मुझे बार बार बुलाने लगीं और होटल में मिलने लगीं. वो मुझे चुदाई के लिए पैसे भी देने लगीं.

उन पड़ोसन भाभी ने मेरा नंबर एक अन्य औरत को भी दे दिया और फिर इस तरह मैं लंड की सर्विस देने लगा.

तो दोस्तो, यह थी मेरी प्यारी भाभी की चूत चुदाई की कहानी और मेरे जिगोलो बनने की सेक्स स्टोरी. भाभी की चुदाई में मुझे बहुत मज़ा आया. आपको मेरी ये कहानी पढ़ कर मजा आया या नहीं … कुछ कहना हो, तो प्लीज़ मुझे ईमेल करें.

यह कहानी भी पड़े  भाभी के भाई ने मेरी चूत को चोदा

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!