बीच पर चोदि पति ने चूत

हेल्लो दोस्तो, मैं शाइनी आज फिर आप सब के लिए कहानी लेकर आई हू. सब से पहले सॉरी की इतना टाइम लग गया कहानी लिखने मे पर जानती हू आप सब भी समझेंगे.

जिन्होने मेरी पिछली कहानिया पढ़ी होगी वो सब यह स्टोरी से तुरंत लिंक कर पाएँगे पर जो मेरी कहानी पहली बार पढ़ रहे है उन्हे रिक्वेस्ट है की मेरी पहले की सारी कहानिया पढ़े ताकि यह कहानी पढ़ने मे आप सब को पूरा मज़ा मिले.

अब शुरू करती हू आज की कहानी जिसमे बहुत कुछ अलग और इंटरेस्टिंग हुआ है जिस से आप सब का ज़रूर लंड और चूत से पानी टपक जाएगा.

जैसे सब को पता है मैं और हज़्बेंड हनिमून के लिए मालदिव आए हुए है और हमारा पहला पूरा दिन रूम मे ही निकल गया.

उस दिन हमने सिर्फ़ सेक्स और आराम ही किया. अब दूसरे दिन भी हम बहुत थके हुए थे क्यू की सन्नी ने सारी रात मेरी चूत की बॅंड बजाई थी. उस रात उन्होने 4 बार अपना लंड मेरी चूत मे डाला था अलग अलग पोज़िशन्स मे.

जब सुबह उठे तब भी हम पूरे नंगे ही थे और थके भी इसीलिए सन्नी चाहते थे हम सारा दिन आज भी रूम मे ही रहे पर मैं बाहर जाना चाहती थी.

इसीलिए हम टायर हुए और बाहर घूमने आ गये. मैने उस दिन भी सन्नी ने दी हुई पॅकेट से ही निकाल कर कपड़े पहने जो की सिर्फ़ एक वन पीस जैसी थी रेड कलर की.

उसका गला वी कट मे था पर बहुत डीप था, जिस वजह से मेरी पूरी क्लीवेज दिख रही थी और सिर्फ़ मेरी निपल्स को छुपा रहा था. नीचे से वो बहुत छोटी थी सिर्फ़ मेरी थाइस तक ही पहुच रही थी.

यह कहानी भी पड़े  चुदाई की प्यासी एक चुदकॅड आंटी

मुझे ऐसी ड्रेस पेहेन कर बाहर जाने मे बहुत शरम आ रही थी, पर अब जब हज़्बेंड लाए थे और हम यहा हनिमून मे थे, जहा हमे कोई नही पहचानता था तब मैने पेहेन लिया और हम बाहर आ गये घूम ने.

बाहर आते हे हम एक बीच पे आ गये. वो इतना सुंदर था की बता नही सकती. सॉफ ब्लू पानी सुहाना मौसम बिल्कुल शांत जगह. वाहा पहले बीच के पास बैठ कर हम ने नास्टा किया और बाद मे आगे बढ़ गये पानी मे जाने.

वाहा बीच पर कोई नही था उस वक़्त क्यू की हम जल्दी सुबह ही निकल चुके थे. तभी सन्नी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मूज़े पानी की तरफ ले जाने लगे.

में भी उनका हाथ अपने हाथो मे पकड़ कर उनके साथ जाने लगी. मैं बहुत खुश थी वो वाहा का सारा माहोल देख कर क्यू की ऐसा माहोल शायद ही हमे कही इंडिया मे मिलेगा एक नयी शादी की हुई कपल के लिए.

हम पानी की तरफ बढ़े और वाहा जा कर पानी मे बीच मे रुक गये. लहरे इतनी तेज थी की वो हम दोनो को कमर तक भीगा चुकी थी.

तभी मुझे एक शरारत सूझी और मैं झुक गयी , पानी सन्नी पे उड़ाने लगी. मेरे यह करते ही सन्नी चौक गये पर उन्होने अब वही किया मेरे साथ. ऐसे ही पानी उड़ाते उड़ाते हम दोनो पूरे भीग चुके थे.

तभी मेरा ध्यान मेरी ड्रेस पे गया जो अब पूरा पानी मे भीग जाने की वजह से ट्रॅन्स्परेंट हो गया था. मेरी पूरी ब्रा और पेंटी ड्रेस मे से दिखने लगी थी.

यह कहानी भी पड़े  मा को नया लॅंड मिला

मैने तभी हज़्बेंड को रुकने कहा और यह भी की फिर से रूम मे चले ताकि मै कपड़े बदल सकु पर उल्टा उन्होने मुझे उठा के पूरा पानी मे बिठा दिया और खुद भी बैठ गये.

उनके यह करने से अब हम दोनो सिर से लेके पैरो तक पूरे भीग चुके थे और पूरे पानी मे भीग चुके थे.

तब जैसे ही उठने गयी हज़्बेंड ने मुझे पकड़ा और अपनी और खिच लिया. उनके यह कर ने से मैं उनके उपर गिर गयी और मेरा हाथ अचानक से उनके लंड पे लग गया.

जैसे हे मेरा हाथ उनके लंड पे लगा झटके की वजह से मैने उसको ज़ोर से दबा दिया और मेरे ऐसे करते ही सन्नी के मूह से सिसकारी निकल गयी.

मेरा उनका लंड दबाना पता नही कैसे पर मेरे यह करते ही वो बहुत गरम हो गये और पानी के बीच मे ही उन्होने मुझे और ज़ोर से पकड़ लिया और किस कर ने लगे.

मैं उन्हे रोक रही थी डर रही थी की हम बीच मे है और शरम भी आ रही थी अगर किसी ने देख लिया तो.

पर वो रुके नही और मेरे होंठो को चुसते गये और एकदम अचानक ही उन्होने मेरी ड्रेस के नीचे से ही पेंटी के उपर से अपनी उंगलिया मेरी चूत मे डाल दिए और रगड़ ने लगे. उनका यह करना अब मुझे गरम कर चुका था.

अब मैने सिर्फ़ आस पास देखा की कोई है तो नही और तभी वाहा सिर्फ़ 2-3 लोग और थे पर वो हमसे बहुत दूर थे.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!