बहन की कुंवारी बुर को भाई ने चोदा

मैं और मेरा भाई कॉलेज में पढ़ते हैं. एक दिन मैंने अपने घर में अलग ही नजारा देखा. और उसके बाद अपनी बहन की कुंवारी बुर को भाई ने चोदा. कैसे?

दोस्तो, मेरा नाम अदिति है और मैं बिहार के एक शहर से हूँ. अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली सेक्स कहानी है और ये बिल्कुल सच्ची घटना है. ये घटना मेरे घर में ही घटी थी … इसलिए मेरी आप सभी से इल्तिजा है कि आप इसे ढेर सारा प्यार देना न भूलना.

मेरी उम्र 21 साल है और मैं कॉलेज की स्टूडेंट हूँ. मेरे अलावा मेरे घर में मम्मी पापा और एक छोटा भाई है, जिसकी उम्र अभी 19 साल है.

पापा अक्सर काम के सिलसिले में घर से बाहर ही रहते हैं. वो जब भी घर आते हैं, तो 10-15 दिन ही घर में रुकते हैं.

यह कहानी मेरी, मेरी मम्मी, मेरे भाई और एक अंकल और उनकी बीवी की है. पहले मैं आप सबको इस घटना से जुड़े हुए सभी लोगों से परिचित करवा देती हूँ.

मेरा नाम तो आप जानते ही हो, अदिति है, मेरी मम्मी का नाम सुनीता है. मम्मी की उम्र 41 वर्ष है. मेरे भाई का नाम अनिल है … उसकी उम्र मैं बता चुकी हूँ. मेरे अंकल वरुण 45 साल के हैं, आंटी का नाम आरती है और वे 42 साल की हैं.

ये कहानी अभी कुछ महीने ही पहले की है. मैं और मेरा भाई अनिल एक ही कॉलेज में पढ़ते हैं. हर दिन की तरह उस दिन भी मैं और भाई एक साथ ही कॉलेज के लिए निकले.

आधे रास्ते जाने के बाद भाई ने कहा- दीदी तुम कॉलेज चली जाओ, मैं नहीं जा पाऊंगा.
मैंने पूछा- क्यों नहीं जाएगा?
उसने बोला- मेरी तबियत ठीक नहीं लग रही है … इसलिए मैं वापस घर जा रहा हूँ, तुम चली जाओ.
मैंने उससे बोला कि ठीक है … चल मैं तुम्हें घर तक छोड़ देती हूँ. तू अकेला कैसे जाएगा, तुम्हारी तबियत भी ठीक नहीं है.
इस पर उसने एकदम से बोला- नहीं दीदी तुम चली जाओ … मैं अकेले घर चला जाऊंगा.
मैं उसे आश्चर्य से देखते हुए बोली- ठीक है, अच्छे से चले जाना.

यह कहानी भी पड़े  दोस्त की गर्लफ्रेंड की गैर लंड से चुदने की चाहत

उसके बाद मैं कॉलेज आ गई. कॉलेज आने के बाद पता चला कि कॉलेज में कोई मीटिंग हो रही है, जिसके कारण आज कॉलेज में छुट्टी हो गई है.

उसके बाद मैं वहां से सीधे घर आ गई, घर में किसी को नहीं पता था कि मेरे कॉलेज में छुट्टी हो गई है … और मैं इतनी जल्दी घर आ जाऊंगी.

मैं घर आयी, तो देखा कि मेरे घर के आगे वरुण अंकल की कार लगी हुई है. अंकल की कार देख कर मुझे लगा कि जरूर पापा आए होंगे … क्योंकि पापा जब भी आते हैं, तो वरुण अंकल ही उन्हें घर तक छोड़ने आते हैं.

मैं तो काफी खुश हो गई थी … क्योंकि पापा जब भी आते हैं, तो मेरे लिए कुछ न कुछ जरूर लाते हैं.

मैं जल्दी से घर की ओर बढ़ी. घर पहुंचते ही मैंने दरवाजा खटखटाया, पर किसी ने दरवाजा नहीं खोला. तब मैंने अपनी दूसरी चाबी से गेट खोला और अन्दर आ गई.

घर में कोई नहीं था. मुझे लगा सब ऊपर वाले रूम में होंगे. मैं जैसे ही ऊपर गई तो मुझे कुछ आवाजें सुनाई देने लगीं.
ध्यान दिया, तो ये कुछ कराहने की आवाजें थीं ‘आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह्ह.’

मुझे लगा कि ये मम्मी को क्या हुआ … क्योंकि वो मम्मी की आवाजें थीं. मैं उस रूम की तरफ गई, तो देखा कि रूम का दरवाजा थोड़ा सा खुला था. उससे झांक कर मैंने अन्दर का नजारा जो देखा, मेरे तो पैरों तले की जमीन खिसक गई. मुझे समझ ही नहीं आया कि ये मेरे घर में क्या हो रहा है. मम्मी बेड पर नंगी लेटी हुई थीं और वरुण अंकल मम्मी के ऊपर चढ़े हुए थे … वो भी नंगे ही थे. वरुण अंकल मेरी मम्मी को चोद रहे थे.

यह कहानी भी पड़े  Young Girl Usha Ki Chudai Kahani

ये सब देख कर मुझे तो गुस्सा आने लगा कि मम्मी एक पराये मर्द के साथ ये क्या कर रही हैं.

हालांकि मुझे उन दोनों में मस्ती का आलम दिखा, तो समझ में आ गया कि मेरी मम्मी और अंकल की सैटिंग है. बस ये सोचते ही मैंने भी उनकी चुदाई को देखने में मन लगा लिया. मैंने सोचा कि चलो देखते हैं कि ये दोनों और क्या-क्या करते हैं. मैं वहीं गेट के साइड में खड़े होकर उन दोनों की चुदाई देखने लगी.

मम्मी बेड पर अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर लेटी हुई थीं और अंकल उन्हें धकापेल चोद रहे थे. मम्मी के मुँह से बस ‘आह्ह आह्ह उफ्फ ऊह्ह आह्ह’ की आवाजें निकल रही थीं.

अंकल का लंड इतना लंबा था कि देख कर तो मुझे डर लग रहा था कि मम्मी इतना लंबा और इतना मोटा लंड अपनी चुत में घुसवा कैसे रही हैं.

मम्मी की चुत में अंकल का लंड बड़ी तेजी से अन्दर बाहर हो रहा था और मम्मी लंड से चुदने के मजे ले रही थीं.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!