बड़ी साली की दबी हुई अन्तर्वासना-2

कुछ देर तक इसी पोजीशन में उसकी चुदाई करने के बाद मैंने उसको उठा दिया और उसको अपनी गोद में बिठा कर उसकी चूत में धक्के देने शुरू कर दिये. उसने अपनी बांहों को मेरे गले में डाल रखा था. मैं उसके स्तनों को मुंह में लेकर चूसते हुए उसकी योनि को चोद रहा था.

हम दोनों ही चुदाई के आनंद में खो गये थे. उसके मुंह से जोर से आह्ह … आह्हह की आवाजें निकल रही थीं और मेरा हाल भी कुछ ऐसा ही था. कुछ देर ऐसे ही उसकी योनि की चुदाई करने के बाद मैंने उसको अपने ऊपर बिठा लिया और वो मेरे ऊपर बैठ कर उछलने लगी. मैं उसकी योनि में नीचे से धक्के लगाने लगा.

वो मेरा पूरा लिंग अपनी योनि में ले रही थी. बहुत मजा आ रहा था. वो जोर से सिसकारियां लेते हुए चिल्ला रही थी- मर गई … उईई … आह्ह … हाय रे दैया! उसके आनंद को मैं उसके चेहरे पर साफ-साफ देख रहा था. उसके चेहरे को देख कर मेरा जोश और बढ़ता जा रहा था.

जब वो थक गई तो मैंने उसको फिर से अपने नीचे लिटा लिया और उसके स्तनों को मुंह में लेकर चूसते हुए उसकी योनि में धक्के देने लगा. अब उसने मेरी कमर को अपनी टांगों से जकड़ लिया था. मेरे धक्कों की रफ्तार और बढ़ गई थी. तभी वो जोर से सिसकारियां लेते हुए झड़ने लगी.

झड़ने के बाद जब उसका पानी निकल गया तो योनि में लंड के चोदन करने से पच-पच की आवाज होने लगी. उस आवाज ने मुझे आनंद के शिखर पर पहुंचा दिया. मेरा लंड अकड़ने लगा. मैंने दो-तीन धक्के खूब जोर लगा कर मारे और मेरा पूरा बदन अकड़ने लगा.

यह कहानी भी पड़े  ससुर ने गांड मारी बरसात में

मैं झटके देते हुए उसकी योनि में झड़ने लगा. इस कामुक चुदाई के बाद हम दोनों ही निढाल हो गये थे. कुछ देर तक ऐसे ही एक दूसरे से चिपके पड़े रहे. मैं उसके बदन से लिपटा रहा और वो मेरी पीठ पर अपने हाथों से सहलाती रही.

फिर हमने उठ कर अपने कपड़े पहने और मैंने उसको एक बार फिर से बांहों में लेकर चूमा और गुड नाइट बोल कर अपने कमरे में चला गया.

दोस्तो, ये थी मेरी आपबीती, एक सच्ची घटना. अगर आपको मेरी यह कहानी पसंद आई हो तो मुझे मैसेज करें. कहानी पर आप कमेंट करके भी बतायें कि आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!